पानीपत, जेएनएन। मानसिक विकार वैसे आम बात है, लेकिन कभी-कभी ये जानलेवा भी साबित हो सकती है। कई रोगी तो मानसिक विकार के शिकार होने के बाद जानलेवा कदम भी उठा लेते हैं। आज 10 अक्‍टूबर को विश्‍व मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य दिवस है। ऐसे में आइए जाते हैं कि इस विकार से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है।

पानीपत की 10 फीसद आबादी किसी न किसी मानसिक विकार से ग्रस्त है। सिविल अस्पताल में विशेष जांच-जागरूकता शिविर लगेगा। सीएचसी-पीएचसी में भी मरीजों-तीमारदारों को मानसिक रोगों से बचाव के टिप्स दिए जाएंगे।

ये समस्‍या सबसे ज्‍यादा

अस्पताल की मनोरोग विशेषज्ञ डा. मोना नागपाल ने विभाग की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताया कि करीब 10 फीसद आबादी मानसिक विकारों से ग्रस्त हैं। लगभग एक प्रतिशत लोग दिमागी बीमारी से पीडि़त हैं। डिप्रेशन, दौरा, एंजाइटी (चिंता), सिर का दर्द, तनाव और माइग्रेन के दर्द से अधिक पीडि़त रहते हैं।

काउंसिलिंग भी एक उपाय

अधिकांश लोगों को काउंसिलिंग के जरिए ठीक किया जा सकता है। बीमारी पुरानी होने पर मेडिसिन देनी पड़ती है। उन्होंने बताया कि परिवार में बच्चा, युवा और बुजुर्ग, किसी भी आयु का व्यक्ति हो, उससे बातचीत करते रहें। उसकी बातों को सुनें, ताकि उसे अपनापन लगे। एक अप्रैल 2020 से सितंबर अंत तक करीब 902 मरीजों की काउंसङ्क्षलग की गई, या भर्ती किया गया है।

मेंटल हेल्थ के जिला नोडल अधिकारी डा. ललित गोयल ने बताया कि सिविल अस्पताल में ओएसटी सेंटर (ओपिऑयड सब्स्टीट्यूशन थैरेपी सेंटर)  भी खुला हुआ है। इसमें किसी भी प्रकार के नशे (शराब, धूम्रपान, अफीम का सेवन, इंजेक्शन व नशे की गोलियां खाना) की लत को छुड़वाया जाता है।

अस्पताल में इन विकारों से पीडि़तों की हुई काउंसिलिंग: 

दौरान              265

डिप्रेशन            186

माइग्रेेन              72

टेंशन               65

अन्य हेडेक         62

नशा                60

सिर में दर्द          53

एंजाइटी             38

कभी खुश, कभी दु:खी 04

मूड डिस्आर्डर      03  

टिप्स आजमाएं, नहीं बनेंगे मनोरोगी :

-परिवार सहित दोस्तों के साथ टच में रहें।

-प्राकृतिक चीजों और शुद्ध वातावरण में रहें।

-भरपूर नींद लें, नशा बिल्कुल न करें।

-व्यायाम करें, पैदल चलें, स्वीङ्क्षमग करें।

-डाक्टर से डाइट चार्ट बनाएं, अमल करें।

-किसी प्रकार की दिक्कत को छिपाएं नहीं।

श्रमिक पुनर्वास केंद्र में बीमार मिले चार किशोर

मेंटल हेल्थ की टीम ने शुक्रवार को शिव नगर स्थित बाल श्रमिक पुनर्वास केंद्र में रह रहे किशोरों के मानसिक स्वास्थ्य की जांच की। चार किशोर बीमार मिले। एक बच्चा भविष्य को लेकर परेशान था। एक के माता-पिता नहीं थे, चिंता में रहता है।

राष्ट्रीय देखभाल और प्रशामक दिवस आज

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, स्वास्थ्य विभाग हरियाणा की ओर से 10 अक्टूबर को राष्ट्रीय देखभाल और प्रशामक दिवस मनाया जाएगा। डिप्टी सिविल सर्जन डा. शशि गर्ग ने बताया कि पानीपत में यह प्रथम बार मनाया जा रहा है। इसका उद्देश्य कैंसर (अंतिम स्टेज) के मरीजों का इलाज, मदद और काउंसिलिंग है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस