पानीपत, जेएनएन। वधावा राम कॉलोनी निवासी एक युवक ने पत्नी को खाना बनाने को कहा। उनका आपस में झगड़ा हो गया। पत्नी को डांटने के बजाय दामाद ने ससुराल जाकर सास व ससुर को पत्नी की हरकतों से अवगत कराया। उन्होंने भी उसका ही कसूर निकाल दिया। दो सालों ने मिलकर लोहे की रॉड से सिर फोड़ दिया। बेहोशी की हालत में दोस्त ने उसे अस्पताल पहुंचाया। सिर में 14 टांके लगे। युवक लगभग सात घंटों तक बेहोश रहा।

सामान्य अस्पताल में उपचाराधीन संदीप ने बताया कि रविवार शाम को वह घर पहुंचा। पत्नी के साथ किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। खाना बनाने के लिए कहा तो पत्नी ने इन्कार कर दिया। वह बाइक उठाकर हरिनगर स्थित ससुराल पहुंचा। सास उषा व ससुर कालूराम भी उसे ही धमकाने लगे। विरोध करने पर साले बबलू और शुभम ने उसके सिर में लोहे की रॉड मारी। सिर फटने के कारण पूरी कमीज खून से सन गई। किसी तरह वह बाहर निकला, लेकिन चक्कर आने के कारण दहलीज पर गिर गया।

बेसुध होकर घर के बाहर गिरा तो आरोपित बेहोशी की हालत में भी उस पर रॉड और डंडों से ताबड़तोड़ वार करते रहे। कार में बैठे दोस्त ने उसे पड़ोसियों की मदद से छुड़ाया।

दो सालों ने लोहे के रॉड से हमला कर पहुंचाया अस्पताल सिर में लगे 14 टांके, सात घंटे तक बेहोश रहा युवक खून से लाल हुई शर्ट दिखती संदीप की मां।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप