कैथल, जागरण संवाददाता। शनिवार सुबह शीत हवाओं के साथ हुई बूंदाबांदी ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी। दिल्‍ली एनसीआर और हरियाणा के कई जिलों में सुबह बूंदाबांदी हुई। साथ ही शीतलहर की वजह से ठंड बढ़ गई। आईएमडी के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ की वजह से मौसम में बदलाव आया है। बारिश की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग के अनुसार, पंजाब, हरियाणा सहित कई राज्‍यों में दो दिन मौसम परिवर्तनशील रहेगा।

फसलों को होगा फायदा या नुकसान

सब्जी व सरसों की खेती करने वाले किसानों की भी इस मौसम ये चिंता बढ़ दी है, क्योंकि एक सप्ताह पहले हुई बरसात का पानी अभी खेतों से निकला भी नहीं है की शुक्रवार रात को हुई बरसात में फिर से खेतों में पानी जमा हो गया। गेहूं की फसल को भी वहां नुकसान है, जहां पहले से खेतों में पानी जमा है। पिछले करीब 15 दिनों से मौसम सामान्य न होने के कारण गेहूं, सरसों व सब्जियांं की फसल को तो नुकसान हो ही रहा, इससे लोगों की दिनचर्या भी प्रभावित हो रही हैै।

कब तक सामान्‍य होगा मौसम

कैथल कृषि विज्ञान केंद्र के समन्वयक रमेश वर्मा ने बताया कि शनिवार व रविवार को मौसम इसी तरह रहेगा, शीत हवाओं के साथ-साथ बूंदाबांदी रहेगी, लेकिन 24 जनवरी से मौसम सामान्य हो जाएगा। जहां खेतों में पहले से पानी जमा है, वहां गेहूं, सरसों व सब्जियों की फसल हो नुकसान होगा। जहां गेहूं में पानी नहीं खड़ा है, वहां नुकसान नहीं होगा। पहले से पानी जमा होने व तेज हवाओं के चलने से पौधा गिर जाएगा।

ठंड ने बढ़ाई लोगों की परेशानी, दिनचर्या प्रभावित

मौसम में बदलाव के बाद चली ठंडी हवाओं के कारण ठिठुरन बढ़ गई है। इस मौसम से लोगों की दिनचर्या प्रभावित हो रही है। शहर के बाजार भी देरी से खुल रहे हैं, ठंड से बचाव को लेकर लोग घरों में दुबकने को मजबूर हैं। वहीं अलाव का भी सहारा ले रहे हैं। शुक्रवार को दिनभर सूर्यदेव के दर्शन नहीं हुई। सुबह छाई धुंध दिनभर नहीं उतरी तो शाम के समय घनी धुंध के कारण वाहन चालकों को सफर करने में परेशानी आई। वाहन सड़कों पर रेंगते दिखाई दिए। लोगों का कहना है कि कई लिंक मार्गो पर सफेद पट्टी न होने के कारण सफर करने में परेशानी आ रही है। रात को ज्यादा धुंध होने के कारण सफर करना परेशानी भरा रहा।

Edited By: Anurag Shukla