करनाल, जागरण संवाददाता। जैसे-जैसे यूपी चुनाव की तारीखें नजदीक आ रही है। चुनावी सरगर्मियां तेज हो चली है। सभी पार्टियों ने प्रचार-प्रसार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। कांग्रेस और बीजेपी ने हरियाणा में भी अपनी-अपनी टीमें बना बिसात बिछानी शुरू कर दी है। उत्तर प्रदेश चुनाव में करनाल के भी प्रमुख नेता अपनी-अपनी पार्टियों के पक्ष में प्रचार प्रसार के लिए तैयार हैं। जबकि पंजाब चुनाव में अपेक्षाकृत कम नेताओं की ड्यूटी लगी है। अब शुरुआती चरणों की नामांकन प्रक्रिया जोर पकड़ने के साथ ही कांग्रेस और भाजपा के प्रमुख नेताओं की यूपी में सक्रियता बढ़ना भी तय है।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के चुनावी समर में करनाल के सियासी दिग्गज भी पूरी ताकत के साथ अपनी मौजदूगी का एहसास करा रहे हैं। आलम यह है कि बूथ से लेकर जिला स्तर तक की बैठकों में वे न केवल नेतृत्व की भूमिका निभा रहे हैं बल्कि अलग-अलग क्षेत्रों के समीकरण ध्यान रखते हुए ठोस चुनावी रणनीति तैयार करने में भी सक्रिय हैं। 21 जनवरी को पहले दौर की नामांकन प्रक्रिया पूरी हो रही है, जिसके बाद अगले दौर को लेकर भी इन तमाम नेताओं को जिम्मेदारियां सौंपी जा रही हैं।

सांसद संजय भाटिया को भी मिली जिम्मेदारी

भाजपाई खेमे की बात करें तो करनाल के अनुभवी सांसद संजय भाटिया को इस बार भाजपा आलाकमान ने काफी पहले ही वेस्ट यूपी के चुनाव प्रभारी के रूप में बेहद अहम जिम्मेदारी सौंप दी थी, जिसे जी-जान से निभाने में वह कोई कोर-कसर नहीं रख छोड़ रहे। रात-दिन उनके चुनावी दौरे चल रहे हैं। इस दरमियान वह एक-एक बूथ के कार्यकर्ताओं से लेकर जिला स्तर तक के प्रमुख नेताओं से सीधा संवाद करने के साथ उनमें नया जोश भरते हैं। जहां भी कोई कमी नजर आती है तो लंबे राजनीतिक अनुभव और रण-कौशल का इस्तेमाल करते हुए तमाम जरूरी हिदायतें देने में भी कतई देर नहीं करते।

इन्हें भी सौंपी जिम्मेदारी

इसी प्रकार कांग्रेसी खेमे से उत्तर प्रदेश चुनाव में पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा सहित जिला संयोजक त्रिलोचन सिंह  व जसवंत सिंह को लखनऊ क्षेत्र की जिम्मेदारी सौंपी गई है। तो पार्टी नेता रघुबीर संधू झांसी व युवा नेता पंकज पूनिया को बिजनौर में प्रचार-प्रसार का काम सौंपा गया है। जिला संयाोक त्रिलोचन ने बताया कि अब तक उन सभी के कई दौरे हो चुके हैं। पार्टी नेता प्रियंका गांधी की यूपी में की गई अथक मेहनत रंग लाएगी। 32 वर्ष से यूपी में सत्ता से बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और समर्थकों की बदौलत इस बार कांग्रेस वहां सरकार के गठन में अहम भूमिका निभाएगी। नामांकन प्रक्रिया के मौजूदा दौर के दृष्टिगत अब 26 जनवरी तक सभी नेता वहां दिन-रात प्रचार-प्रसार करेंगे। 

पंजाब में भी जिम्मेदारी

उत्तर प्रदेश के साथ ही पंजाब विधानसभा चुनाव में भी करनाल के राजनीतिक चेहरे सक्रिय रहेंगे। भाजपा जिलाध्यक्ष योगेंद्र राणा ने बताया कि 23 जनवरी को नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती पर इस बार पूरे प्रदेश में व्यापक स्तर पर कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। इसके फौरन बाद दोनों राज्यों के लिए निर्धारित रोटेशन प्लान के अनुरूप अनुभवी पार्टी नेता व कार्यकर्ता अपनी-अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए रवाना हो जाएंगे। वहीं, कांग्रेस के जिला संयोजक त्रिलोचन सिंह ने बताया कि यूपी चुनाव के साथ ही पंजाब में भी आवश्यकतानुसार सक्रियता बढ़ाई जाएगी।

Edited By: Rajesh Kumar