पानीपत/यमुनानगर, जेएनएन। यमुनानगर के देवधर के डारपुर गांव में गुरु रविदास मंदिर के पुजारी को दो युवकों ने मारपीट कर मौत के घाट उतार दिया। पुजारी ने एक आरोपित को शाम के समय मंदिर में नशा कर आने पर थप्पड़ मार दिया था। आरोपित ने थप्पड़ का बदला लेने के लिए रात को अपने दोस्त के साथ मिलकर चौपाल में सो रहे पुजारी से मारपीट की। लोगों ने उन्हें ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया जहां पर उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। पुलिस ने गांव डारपुर निवासी सुनील व सुखदेव के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

छछरौली के गांव बलौली निवासी 57 वर्षीय कश्मीरा कुछ माह पहले ही डारपुर गांव में गुरु रविदास मंदिर के पुजारी बने थे। वे मंदिर के साथ बनी चौपाल में ही रहकर मंदिर की देखरेख करते थे। पुलिस के अनुसार शनिवार शाम डारपुर निवासी सुनील व सुखदेव मंदिर के पास नशा कर  रहे थे।

शराब पीकर वे मंदिर परिसर में आ गए। कश्मीरा ने सुनील को कहा कि वह नशा कर धार्मिक जगह पर क्यों आया है। इस पर पुजारी ने सुनील को डांटते हुए थप्पड़ भी लगा दिया। उस समय तो विवाद शांत हो गया था। रात को ही सुनील व सुखदेव ने फिर से नशा किया और चौपाल में सो रहे पुजारी कश्मीरा से बदला लेने के लिए उनके साथ मारपीट की। पुजारी चिल्लाने लगे तो आसपास के लोग वहां पहुंच गए। जिन्हें देख कर सुनील व सुखदेव वहां से फरार हो गए। ग्रामीण पुजारी को ट्रामा सेंटर लेकर गए। जहां पर उपचार के दौरान देर रात को ही मौत हो गई। थाना छछरौली पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर रविवार को पोस्टमार्टम के बाद स्वजनों का सौंप दिया।

मृतक के भाई बलौली निवासी सतपाल ने बताया कि रविवार सुबह सूचना मिली की कश्मीरा की युवकों ने डंडों से पिटाई कर दी है। वह अस्पताल पहुंचा तो भाई की मौत हो चुकी थी। सतपाल की शिकायत पर पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया।

थप्पड़ मारने पर की हत्या : पृथ्वी सिंह

थाना छछरौली प्रभारी पृथ्वी सिंह ने बताया कि नशा कर मंदिर में आने पर कश्मीरा ने सुनील को थप्पड़ मार दिया था। जिसके बाद सुनील व सुखदेव ने  देर रात पुजारी से मारपीट की। दोनों पर हत्या का केस दर्ज कर लिया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस