पानीपत, जेएनएन। वार्ड-8 के चढ़ाऊ मुहल्ला में घर के बाहर से पड़ोस में रहने वाले शादीशुदा व्यक्ति ने तीन साल की बच्ची का अपहरण कर गला दबाकर हत्या कर दी। दुष्कर्म के प्रयास की आशंका जताई गई है। परिजन देर शाम तक आरोपित की गिरफ्तारी के बाद ही शव उठाने की मांग पर अड़े रहे। 

घटना 12:30 बजे की है। बच्ची की मां ने कि उसका छह वर्षीय बेटा एलकेजी में पढ़ता है। पति रेहड़ी से फेरी लगाकर सब्जी बेचने गया था। उसे बेटी को साथ लेकर बेटे को स्कूल से लाना था। बेटी गली में चली गई। वह पड़ोसी की महिला की बेटी से बातें करने लगी। दस मिनट बाद देखा तो बेटी लापता थी। उसने आसपास की गलियों और घर से सात मकान छोड़कर राजेश उर्फ राजन नामक व्यक्ति के पहली मंजिल पर बनाए गए कमरे में देखा तो बेटी नहीं मिली।

शक हुआ तो पड़ोसी के कमरे में दोबारा गया
उसे शक हुआ कि बेटी राजेश के ही दूसरे बंद कमरे में हो सकती है। उसने कमरे की कुंडी खोलकर देखा तो बेटी बेड के साथ दरवाजे के पास अर्धनग्न अवस्था में मृत पड़ी थी। राजेश ने उसकी बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी थी। उसने शोर मचाया तो आरोपित राजेश फरार हो गया। उसने फोन कर पति को वारदात की सूचना दी। मौके पर एसपी सुमित कुमार व सामान्य अस्पताल में करनाल के रेंज के आइजी योगेंद्र नेहरा पहुंचे और पीडि़त परिवार को आश्वासन दिया कि आरोपित को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

शाम पांच बजे डॉ. नारायण डबास ने शव का पोस्टमार्टम किया। डॉ. डबास ने बताया कि गला दबाकर बच्ची को मारा गया है। स्वैप लेकर लैब में भेजे जाएंगे। इसके बाद ही पता चल पाएगी कि बच्ची के साथ गलत काम हुआ है या नहीं। आइजी योगेंद्र नेहरा ने बताया कि बच्ची के पिता के बयान पर किला थाना में आरोपित राजेश के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपित राजेश रेहड़ी लगाकर लहसून बेचता है। पुलिस की पांच टीमें आरोपित की तलाश कर रही हैं। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस