जागरण संवाददाता, पानीपत : पानीपत के सिविल अस्पताल में सुबह से ही वैक्सीन लगवाने पहुंचे लोगों ने जमकर हंगामा किया। अस्पताल प्रशासन पर सिफारिशी को वैक्सीन लगवाने के आरोप लगाए। वीरवार को सुबह नौ बजे सिविल अस्पताल में वैक्सीन लगवाने वालों की भीड़ इतनी बढ़ गई कि लाइन में न शारीरिक दूरी का ख्याल रहा व न ही प्रशासन ने शारीरिक दूरी बनवाने के लिए कोई कदम उठाया। इससे दोपहर तक वैक्सीन लगवाने के लिए अपने नंबर का इंतजार करते रहे और कुछ को बगैर वैक्सीन लगवाए ही अपने घर वापस लौटना पड़ा।

सिविल अस्पताल में 45 से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए कोई समय निर्धारित नहीं है। सुबह-सुबह सिविल अस्पताल में वैक्सीन लगवाने के लिए अस्पताल पहुंच जाते हैं। काफी भीड़ होने पर काफी अव्यवस्था फैल जाती है। लोग कई बार आपस में उलझ जाते है। इस दौरान वैक्सीन लगवाने पहुंचे लोगों ने कहा कि सिविल अस्पताल में सुबह नौ बजे से ही लाइन में लग जाते है और जहां वैक्सीनेशन का रजिस्ट्रेशन होता है। वहां के कार्यालय में पीछे से सिफारिशी लोग चले जाते हैं और उन्हीं को सबसे पहले वैक्सीन लगाई जा रही है। धीमी गति से किया जा रहा कार्य

वैक्सीन लगवाने के लिए सिविल अस्पताल में काफी लंबी कतार लग गई। शारीरिक दूरी भी नहीं बना पाए। इससे महामारी फैलने का खतरा बना हुआ है। दूसरी तरफ वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन खिड़की पर काफी धीमी गति से कार्य किया जा रहा है। इससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है। एक घंटे से लाइन में लगे नहीं आया नंबर

पानीपत निवासी उर्मिला ने कहा कि वैक्सीन लगवाने के लिए एक घंटे से लाइन में लगे हुए हैं, लेकिन अभी तक नंबर नहीं आया। खिड़की से देखा है कि सिफारिशी लोग पीछे से कार्यालय में आकर वैक्सीन लगवा रहे हैं और हमारा अभी तक नंबर तक नहीं आया। इससे काफी दिक्कत हो रही है। जान पहचान वालों को ही लग रही वैक्सीन

पानीपत के गीता कॉलोनी निवासी आशु ने बताया कि सुबह से ही लाइन में लगे हुए है और अभी तक लाइन से दो ही लोगों को वैक्सीन लग पाई और अंदर कर्मचारी अपने जान पहचान वालों को ही वैक्सीन लगा रहे है।

Edited By: Jagran