पानीपत, जेएनएन। जीटी रोड पर सोनीपत-पानीपत बॉर्डर स्थित संत निरंकारी आध्यात्मिक स्थल की सुरक्षा को चाक-चौबंध कर दिया गया है। चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात हैं। वहीं आश्रम के सेवादार भी सुरक्षा में लगे हुए हैं। एडीजीपी आश्रम के सुरक्षा प्रबंधों की खुद जिम्मेदारी संभाले हुए हैं।

संत निरंकारी आध्यात्मिक स्थल पर 24 से 26 नवंबर को 71वां संत निरंकारी समागम होगा। पहले सुरक्षा एजेंसियां व प्रशासन इतना इसके लिए इतना गंभीर नहीं था। सेवादार ही गेट से लेकर अंदर तक की सुरक्षा को संभाले हुए थे। अब सुरक्षा एजेंसियों ने समागम के लिए हाई अलर्ट जारी कर दिया है। एडीजीपी ला एंड ऑर्डर अकील मोहम्मद सोमवार को खुद कार्यक्रम स्थल पर आए थे। 

एडीजीपी ने दोबारा से किया निरीक्षण
निरंकारी स्थल की सुरक्षा को लेकर जिम्मेदारी खुद एडीजीपी करनाल रेंज नवदीप सिंह विर्क ने संभाली है। वे सुबह 11 बजे निरंकारी स्थल पर पहुंचे। जहां पर उन्होंने करीब आधा घंटे तक आईजी रोहतक रेंज संदीप खिरवार, डीसी सोनीपत व एसपी सोनीपत के अलावा गुप्तचर एजेंसी से जुड़े अधिकारियों व संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के पदाधिकारियों के साथ बंद कमरे में सुरक्षा और ट्रैफिक व्यवस्था पर मंथन किया। इसके बाद उन्होंने अंदर समागम स्थल व रास्तों का भी बारीकी से निरीक्षण किया। 

 sant nirankari samagam

रेलवे स्टेशन पर तैनात पुलिसकर्मी।

स्टेशन पर खोली अस्थायी चौकी 
समागम के आने वाले अनुयायियों को देखते हुए भोड़वाल माजरी रेलवे स्टेशन की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जिसकी कमान डीएसपी जीआरपी शीतल खुद संभाल रहे है। उनके साथ एसएचओ सोनीपत ताराचंद व गन्नौर चौकी इंचार्ज भी तैनात है। डीएसपी ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के लिहाज से जीआरपी के 70 जवानों की तैनाती की गई है। यहां पर 24 घंटे तैनात रहेंगे। इसके अलावा अस्थायी तौर पर चौकी खोल दी गई है। साथ ही एक चेक पोस्ट भी बनाई गई है। आरपीएफ का एक इंस्पेक्टर और 30 जवान रेलवे स्टेशन पर तैनात किए हैं। 

 sant samagam samalkha

अधिकारियों को निर्देश देते एडीजीपी नवदीप सिंह विर्क।

यहां सावधानी बरतने की जरूरत 
भोड़वाल माजरी रेलवे स्टेशन की तरफ गेट पर आरएएफ के जवान तैनात किए गए है, परंतु स्टेशन से आगे की तरफ बनाए गए दो रास्तों पर फाउंडेशन के सेवादार तैनात हैं। वहीं स्टेशन के पास रेलवे कॉलोनी की दीवार का कुछ हिस्सा सिर्फ चार फीट के आस पास ही ऊंचा है। जहां से आदमी आसानी से कूदकर अंदर जा सकता है। यहां भी सुरक्षा एजेंसियों को ध्यान देने की जरूरत है।   

हर रोज पहुंच रहे है हजारों अनुयायी
समागम को लेकर देश से लेकर विदेशों तक से करीब 10 लाख के करीब अनुयायियों के पहुंचने की उम्मीद है। जिसको लेकर हर रोज ट्रेन आदि में सवार होकर हजारों अनुयायी पहुंच रहे है। मंगलवार को भी बिहार, उड़ीसा, हिमाचल व पंजाब आदि प्रदेशों से अनुयायी पहुंचे। जिनके ठहरने व खाने को लेकर फाउंडेशन की तरफ से विशेष व्यवस्था की गई है। 

चलाई गई है स्पेशल ट्रेन 
समागम में देशभर से आने वाले अनुयायियों के लिए भोड़वाल माजरी रेलवे स्टेशन पर दिल्ली से अंबाला की तरफ आने जाने वाले तीन दर्जन के करीब पैसेंजर, सुपरफास्ट व एक्सप्रेस गाडिय़ों का दो मिनट का ठहराव किया गया है। वहीं दो स्पेशल ट्रेन भी चलाई हैं। इनका ठहराव पांच मिनट तक किया गया है।

रेलवे स्टेशन पर सेवादार तैनात 
संत निरंकारी समागम में पंजाब, हिमाचल, जम्मू और चंडीगढ़ से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पानीपत स्टेशन पर विशेष व्यवस्था की गई है। मंगलवार सुबह से दस सेवादारों की डयूटी लगाई गई है। सेवादार पानीपत स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों को मॉडल टाउन की तरफ बस में बैठाकर समागम स्थल पर ले जा रहे हैं। सिविल अस्पताल और समालखा सीएचसी में अलग से वार्ड भी बनाया गया है।

सुरक्षा और व्यवस्था दोनों पर ध्यान : नवदीप  विर्क
करनाल रेंज के एडीजीपी नवदीप सिंह विर्क ने आइजी रोहतक रेंज संदीप खिरवार व अन्य अधिकारियों के साथ संत निरंकारी समागम स्थल का मंगलवार शाम को दोबारा बारीकी से निरीक्षण किया। सुरक्षा के लिहाज से हर चेक पोस्ट व रूट का भी जायजा लिया। शाम 4 बजे अधिकारियों के साथ सुरक्षा और व्यवस्था पर काफी देर तक विचार-विमर्श किया। 

सभी की पहचान करने के सख्त निर्देश
एडीजीपी ने कहा कि लोगों की सुरक्षा के लिए किसी भी तरह की चूक बर्दाशत नहीं होगी। जिस भी अधिकारी व कर्मचारी को जहां ड्यूटी मिली है, वे उसे मुस्तैदी के साथ करें। उन्होंने फाउंडेशन से जुड़े पदाधिकारियों से भी सभी गेट पर सीसीटीवी कैमरे लगवाने, आने जाने वाले लोगों की चेकिंग, सत्संग में आने वाली सभी बसों पर पहचान के लिए पांपलेट लगाने, गेट, शौचालय, पंडाल, पार्किंग आदि जगहों पर लगे सभी सेवादार की लिस्ट बनाकर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समागम स्थल पर एक कंट्रोल रूम भी स्थापित किया जाए और एंबुलेंस व फायर ब्रिगेड की व्यवस्था 24 घंटे उपलब्ध हो। पांच क्रेन हाईवे पर तैनात की जाएं। ताकि आपातकाल के वक्त इनका प्रयोग किया जा सके। उन्होंने समागम स्थल पर कार्य करने वाले सभी राज मिस्त्री, मजदूर, इलेक्ट्रिशियन आदि का भी पूरा ब्यौरा आधार कार्ड सहित रखने के लिए कहा। इस मौके पर एसडीएम गौरव कुमार, पुलिस अधीक्षक सोनीपत प्रतिक्षा गोदारा, पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय पानीपत सतीश कुमार वत्स, डीएसपी विजेंद्र कुमार, सतीश कुमार गौतम व डीएसपी राजेश फौगाट मौजूद रहे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ravi Dhawan