जागरण संवाददाता, पानीपत : गुरुनानक देव के 550 वें प्रकाश उत्सव पर गुरुद्वारा भाई लालो सिंह सभा तहसील कैंप की तरफ से अलौकिक नगर कीर्तन निकाला गया। पंज प्यारों ने अगुवाई की। सुबह छह बजे भाई लालो चौक पटेल नगर से शुरू होकर नगर कीर्तन तहसील टाऊन के प्रमुख मार्गों भ्रमण की। फतेहपुरी चौक, जट्टू चौक, भूल भुलैया चौक, भावना चौक, दुष्यंत नगर, अशोक नगर, न्यू रमेश नगर, जवाहर नगर, भगत नगर और ग्रीन पार्क से होते हुए दोपहर 12:30 बजे गुरुद्वारा भाई लालो सिंह सभा में पहुंची। नगर कीर्तन में गतका पार्टी ने करतब दिखाए। बैंडबाजों और ढोल नगाड़ों के बीच नगर कीर्तन का जगह-जगह स्वागत हुआ। नगर कीर्तन में आतिशबाजी की गई। पूरे रास्ते में जगह-जगह स्टॉल लगाए थे। नगर कीर्तन के समापन पर गुरुद्वारे में अटूट लंगर लगाया।

नगर कीर्तन में प्रमुख गुरुद्वारों, मंदिरों की प्रभात फेरी शामिल रही। इनमें प्रमुख रूप से श्रीराम मंदिर, हनुमान मंदिर फतेहपुरी चौक, गुरुद्वारा माया देवी, गुरुद्वारा फतेहपुरी, गुरुद्वारा बंदा सिंह बहादर, कलगीधर सिंह सभा, हनुमान मंदिर पटेल नगर, प्रेम मंदिर, प्राचीन शिव मंदिर, गुरुद्वारा सिंह सभा, स्त्री सत्संग सभा, गुरुद्वारा गुरु अर्जुन देव की प्रभात फेरियां शामिल रही।

गुरुद्वारा भाई लालो जी सिंह सभा के महासचिव बलविद्र सिंह ने कहा कि कौमी एकता के प्रतीक इस नगर कीर्तन का उद्देश्य गुरुनानक देव के उन उपदेशों को याद दिलाना है जिसमें उन्होंने समस्त मानव जाति के कल्याण के लिए एक ईश्वर की संतान बताते हुए सच की कमाई करने पर जोर दिया।

सभा के सदस्य अमर सिंह, बलदेव सिंह ने बताया कि हर वर्ष अलौकिक नगर कीर्तन निकाला जाता है। इस बार गुरुनानक का 550 वां प्रकाश उत्सव होने के कारण संगत में अधिक उत्साह था। एवन पब्लिक स्कूल के बच्चों ने नगर कीर्तन में हिस्सा लिया। बच्चे पंच प्यारे भी बने हुए थे। नगर कीर्तन सभा में शामिल बच्चों सहित पंच प्यारों और सभाओं की सम्मानित भी किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप