अरविन्द झा, पानीपत : सरकारी स्कूलों में शौचालयों की कमी अब दूर होगी। हरियाणा स्कूल परियोजना परिषद ने 1142 शौचालयों के लिए हरी झंडी दे दी है। एसएसए के योजना बजट में स्कूलों के खाते में राशि ट्रांसफर कर दी गई है। सर्वाधिक शौचालय मेवात जिले में बनाए जाएंगे।

स्वच्छ भारत मिशन के तहत राजकीय विद्यालयों में भी साफ सफाई अभियान पर जोर दिया जा रहा है। सर्व शिक्षा अभियान की तरफ से शौचालय की कमी वाले स्कूलों की सूची वर्ष 2016 में शिक्षा निदेशालय को भेजी गई थी। बजट की कमी से फाइल अटकी रही। नए सत्र 2017-18 के शुरू होने से दो माह पहले 1142 शौचालय (ब्वॉयज एंड ग‌र्ल्स) के लिए 768.74 लाख रुपये आवंटित किया गया है। राशि एचएसएसपीपी के खाते में ट्रांसफर कर दी गई। मेवात जिले को सबसे अधिक 314.46 लाख की राशि मिली है। अंबाला जिले को लड़कों के छह शौचालय बनाने के लिए सबसे कम 6.84 लाख रुपये दिए गए। लड़कों के एक शौचालय पर 1.14 लाख तथा लड़कियों के एक शौचालय पर 1.30 लाख की लागत आएगी।

किस जिले को कितनी राशि मिली

जिला ब्वॉयज ग‌र्ल्स

1.अंबाला 6 0

2.भिवानी 31 18

3.फतेहाबाद 24 49

4.फरीदाबाद 53 19

5.गुरुग्राम 42 23

6.हिसार 28 19

7.झज्जर 10 13

8.जींद 51 50

9.कैथल 23 12

10.करनाल 17 10

11.कुरुक्षेत्र 9 3

12.मेवात 139 120

13.महेंद्रगढ़ 6 5

14. पलवल 75 64

15. पंचकूला 26 19

16.पानीपत 18 16

17.रेवाड़ी 4 3

18.रोहतक 12 11

19.सिरसा 30 5

20.सोनीपत 37 30

21.यमुनानगर 5 5

नए ड्राइंग से बनेगा शौचालय

हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद् की तरफ से जारी पत्र के मुताबिक (एसएसए/एसी-1/34716-78) सभी शौचालय नए ड्राइंग से बनाए जाएंगे। निर्माण कार्य पूरा होने पर उपयोगिता प्रमाण पत्र भी जमा करवाना होगा। स्वच्छता मिशन के नोडल अधिकारी व एसएसए के चेयरमैन इसकी निगरानी करेंगे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप