यमुनानगर, जागरण संवाददाता। रेलवे प्रोटेक्शन सेफ्टी फाेर्स (आरपीएसएफ) नौवीं वाहिनी में एसआइ अफसर अली को पत्नी 26 वर्षीय नजमा की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। 24 सितंबर को रेलवे अंडरपास के पास कार की टक्कर से लगने से उसकी मौत हो गई थी। पहले पुलिस ने इस मामले में हादसे का केस दर्ज किया था। बाद में मृतका के स्वजनों ने शक जताया था कि अफसर अली ने ही साजिश के तहत यह हत्या कराई है। जिस पर पुलिस ने हत्या का केस दर्ज किया था।

मामले की तफ्तीश सीआइए वन की टीम कर रही है। पुलिस की जांच में सामने आया कि अफसर अली अपनी पत्नी से परेशान था। इसलिए उसने ही यह हत्या की। सीआइए वन के इंचार्ज राकेश मटोरिया ने बताया कि आरोपित अफसर अली को गिरफ्तार किया गया है। उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मुराबादाबाद जिले के गांव जाफराबाद के अफसर अली यहां रेलवे प्रोटेक्शन सेफ्टी फाेर्स (आरपीएसएफ) नौवीं वाहिनी में एसआइ के पद पर तैनात हैं। फिलहाल पत्नी नाजमा के साथ वह पृथ्वीनगर कालोनी में किराये के मकान में रह रहे थे। 24 सितंबर की रात करीब नौ बजे वह खाना खाने के बाद पत्नी नाजमा के साथ रेलवे अंडरपास के पास सैर कर रहे थे। तभी गति से कार आई और पीछे से उन्हें व पत्नी को टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही वह उछलकर सड़क पर जा गिरे। इस घटना में नजमा गंभीर रूप से घायल हुई थी। अस्पताल में इलाज के दौरान नजमा की मौत हो गई थी।

स्वजनों ने अफसर अली पर जताया था शक

जब नाजमा के शव का पोस्टमार्टम हुआ, तो उसके स्वजन भी पहुंच गए थे। स्वजनों ने अफसर अली पर नजमा की हत्या करने के आरोप लगाए थे। आरोप था कि वह नजमा से काफी समय से पीछा छुड़ाना चाहता था। इसलिए ही उसने साजिश के तहत यह हत्या कराई। मृतका के जीजा मोहम्मद रईस ने बताया कि उनकी साली का अफसर अली से एक वर्ष पहले प्रेम विवाह हुआ था। कुछ दिन तक सब कुछ ठीक रहा। बाद में दोनों के बीच मनमुटाव रहने लगा। कई बार अफसर अली उसके साथ मारपीट कर चुका था।

नजमा ने दे दी थी शिकायत

अफसर अली पत्नी नजमा के साथ मारपीट करता था। परेशान होकर नजमा ने अप्रैल माह में महिला थाना में भी शिकायत दी थी। इससे पहले भी वह कई बार शिकायत दे चुकी थी। थाने में अफसर अली को भी बुलाया गया था। उस समय अफसर अली ने समझौता कर लिया था और उसने अपने साथ लेकर चला गया था। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि नजमा की शिकायतों की वजह से अफसर अली के प्रमोशन पर भी फर्क पड़ रहा था। जिससे वह परेशान था। इसके अलावा उसे नजमा के चाल चलन पर भी शक था। इसलिए उसने नजमा की हत्या की योजना बनाई और हादसा दिखाने के लिए कार से एक्सीडेंट कराया। जिस समय नजमा की मौत हुई। वह पांच माह की गर्भवती थी।

Edited By: Anurag Shukla