जागरण संवाददाता, पानीपत :

शहर के सभी सेक्टरों की री-कैलकुलेशन नहीं की गई। जिन सेक्टरों की गई है। उनमें भी कॉमन एरिया का बोझ डाला दिया गया। नोटिफिकेशन के छह माह बीत चुके हैं। नोटिफिकेशन के मुताबिक दोबारा गणना न होने के विरोध में सेक्टर वासियों ने हशविप्रा कार्यालय पर रोष प्रदर्शन किया। सेक्टर वासियों की मांग है कि उनकी आपत्ति भी ली जाए। सेक्टरों के संयोजक बलजीत ने कहा कि पहले जमीन लेकर किसानों को लूटा गया। अब नियम कानून को एक तरफ रखकर हुडा वासियों पर बोझ डाला गया है।

प्रदर्शन में शामिल सेक्टरों की रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों भीम राणा, एसके त्यागी, दीनानाथ गुप्ता ने कहा कि सरकार सेक्टरवासियों को राहत देना चाहती है, लेकिन अधिकारी गड़बड़ कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने जो निर्देश दिए हैं उसके मुताबिक हम इन्हांसमेंट की राशि भरने के लिए तैयार हैं। इन्हांसमेंट पूरी तरह से गलत है। इसे ठीक किया जाए। हिसार गुरुग्राम में की गई री-कैलकुलेशन ठीक की गई है पानीपत में गलत क्यों की गई है।

सेक्टर रेजिडेंट्स वेल्फेयर के पदाधिकारियों ने कहा कि यदि उनकी सुनवाई नहीं की जाती तो दोबारा आंदोलन करने के लिए तैयार हैं। पूरे प्रदेश में आंदोलन किया जाएगा। सेक्टरों में फूट डालने का काम भी किया जा रहा है। रोष प्रदर्शन में हशविप्रा के कार्यकारी अधिकारी ईओ योगेश नारंग पहुंचे। उन्होंने कहा कि आपकी मांगों के अनुसार पदाधिकारियों को बुलाया जाएगा। नोटिफिकेशन के मुताबिक री-कैलकुलेशन की गई है। यदि कोई गलती रहती है तो उसे ठीक किया जाए। शुक्रवार तक सेक्टर वासियों से बात की जाएगी।

सेक्टरों के संयोजक बलजीत ने कहा कि शुक्रवार तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता तो सोमवार को रोष प्रदर्शन किया जाएगा। जिसमें शहर सभी सेक्टर वासी भाग लेंगे। रोष प्रदर्शन करने वालों में सेक्टर 6 प्रधान अजीत सिंह, सेक्टर 18 प्रधान सूरजभान राठी, भीमराणा, नरेंद्र गोयल, कंवल सिंह, नितिन अरोड़ा, दीनानाथ गुप्ता, विनित पालीवाल, शिव मल्होत्रा, अमरीक सिंह, सतपाल नांदल, एसएन सेठी, मेहरदास, इंद्र सिंह, रतन लाल, सुबे सिहं, शिवचरण, राजेंद्र गुप्ता, संत लाल, दिनेश बंसल, राम सिंह, कर्ण सिंह, राममेहर चालिया, बिजेंद्र गुलिया, मोहब्बत सिंह मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस