चंडीगढ़/पानीपत, जेएनएन। हरियाणा में बॉलीवुड फिल्‍म पानीपत पर बवाल बढ़ता जा रहा है। फिल्‍म के विरोध में लोग सड़कों पर उतर आ गए हैं और हालत यह हाे गए हैं कि कई जिलों के सिनेमा हाल में इस फिल्‍म का प्रदर्शन बंद करना पड़ा है। पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी फिल्‍म पर लोगों के विरोध को देखते हुए इसमें संशोधन की मांग की है। उन्हाेंने कहा कि फिल्‍म में राजा सूरजमल के चरित्र को गलत तरीके से दिखाया गया है।

पानीपत फिल्‍म के रिलीज के बाद से ही हरियाणा में इसका विरोध किया गया है। लोगों का कहना है कि फिल्‍म में राजा सूरजमल के चरित्र को गलत तरीके से दिखाया गया है। फिल्‍म के विरोध में पानीपत, जींद, करनाल, कैथल सहित विभिन्‍न शहरों में प्रदर्शन हुआ।

जींद में अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने जाट धर्मशाला में बैठक कर फिल्म में दिखाए तथ्यों पर नाराजगी जताई और जिला प्रशासन से सिनेमा घरों में फिल्म दिखाने पर रोक लगाने की मांग की। राजकीय पीजी कॉलेज के छात्रों ने भी फिल्म के विरोध में तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। जयति जयति हिंदू महान संगठन के विरोध के चलते फिल्म का प्रदर्शन बंद कर दिया।

कैथल में जाट समुदाय के लोगों ने प्रदर्शन किया। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के बैनर तले जाट समाज के लोगों ने कैथल में प्रदर्शन किया। फिल्म पर पाबंदी लगाने के विरोध में डीसी डॉ. प्रियंका सोनी को ज्ञापन सौंपा।

करनाल मेें भी जाट व अन्य समुदाय के लोगों ने प्रदर्शन किया। करनाल के सेक्टर 12 स्थित सुपर मॉल में फिल्म का प्रदर्शन रुकवा दिया गया। लोगों ने एसपी को ज्ञापन सौंपकर फिल्म के डायरेक्टर, प्रोड्यूशर व लेखक के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की। लोगों के विरोध को देखते हुए थाना सिविल लाइन से पुलिस की टीम पहुंची और लोगों को शांत कराया।

पानीपत में भी फिल्‍म के विरोध में विभिन्‍न जाट संगठन उतर आए हैं। जाट संस्थाओं और अन्‍य संगठनों के पदाधिकारी आज डीसी को ज्ञापन सौंप कर सिनेमाघरों में प्रदर्शित इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग करेंगे। जाट सभा व जाट धर्मार्थ सभा पानीपत के अध्यक्ष जगबीर राणा ने विरोध कहा कि फिल्म में भरतपुर के महाराजा सूरजमल का गलत चित्रण किया गया है। 

आरक्षण संघर्ष समिति के प्रधान दलबीर जागलान ने विरोध जताते हुए कहा कि इस फिल्म में राजा सूरजमल के चरित्र को गलत तरीके से दिखाया गया है। इसको सहन नहीं किया जाता है। उन्होंने बताया कि फिल्म के विरोध में इसराना में मंगलवार को एक बैठक हुई है।

दूसरी ओर, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी फिल्म 'पानीपत' पर आपत्ति जताई है। उन्‍होंने कहा कि मैंने अब तक फिल्म नहीं देखी है, लेकिन जो सुना है उससे लगता है कि सही नहीं है। मुझे फिल्‍म के बारे में जो जानकारी मिली है उससे लगता है कि महाराजा सूरजमल को फिल्म में गलत तरीके से चित्रित किया गया है। महाराजा सूरजमल को एक लालची व्यक्ति के रूप में दिखाने का दृश्‍य हटाया जाना चाहिए था।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस