जागरण संवाददाता, पानीपत : मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक रविवार को सींक पाथरी गांव में थे। वहां तिरखू तीर्थ पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने एक बार फिर केंद्र सरकार पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि जवानों के लिए बना नया कानून बर्बाद करने वाला है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने 700 किसानों के मरने के बाद माफी मांग कर कृषि कानून को वापस लिया। किसानों की लड़ाई तो हमने जीत ली है। एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) की लड़ाई अभी चल रही है। वादा करके सरकार ने उसे पूरा नहीं किया है। किसान इकट्ठा रहेंगे तो उसे भी हासिल कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं अपनी मां की कोख से गवर्नर पैदा नहीं हुआ। हमेशा इस्तीफा देने के लिए तैयार रहता हूं। देश व प्रदेश की सरकार से लड़ना पड़े तो भी मैं तैयार हूं। सर छोटू राम, चौधरी चरण सिंह और ताऊ देवीलाल ने हमें किसान और कमेरे वर्ग के लिए लड़ना सिखाया है।

Edited By: Jagran