जागरण संवाददाता, पानीपत : आतंक का पर्याय बने रॉकी को पुलिस ने हालत में सुधार आने के बाद बुधवार न्यायिक हिरासत भेज दिया। बीते 14 जुलाई को गिरफ्तारी के बाद से ही रॉकी करनाल स्थित कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में उपचाराधीन था। पुलिस धर पकड़ के दौरान पैर टूटने की बात कह रही थी। पुलिस के ही सूत्र उसे भागने पर गोली मारने की बात कर रहे थे। पुलिस आरोपित को किला थाना में दर्ज दोनों मुकदमों में प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आएगी। जिला पुलिस ने आरोपित रॉकी को थाना चांदनी बाग के दो और इसराना थाना के एक मुकदमे में कोर्ट में पेश किया, जहां से आरोपित को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

बता दें कि प्रेमिका नरगिस से प्रेम-प्रसंग के चलते लेकर फरार हुआ आरोपित रॉकी पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुका था। आरोपित की गिरफ्तारी से लेकर अब अदालत में पेशी तक पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद नजर आई। शातिर हत्यारे की देखरेख में किसी तरह की लापरवाही पुलिस के लिए खतरनाक साबित हो सकती थी। वहीं घटना के बाद से सहमे युवती के भाई व उसके साथी अब तक सदमे से उबर नहीं आ पाए है। आरोपित की धर पकड़ के लिए पुलिस की कई टीमें दबिश दे रही थी। 14 जुलाई की दोपहर को आरोपित बाल मुंडवा कर फरार होने की फिराक में था। पुलिस टीम ने आरोपित को पकड़ने का प्रयास किया तो आरोपित ने दो फायर कर दिए। एक गोली साइबर सेल के हेड कांस्टेबल दिनेश को लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस