जागरण संवाददाता, समालखा : कस्बे में भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का प्रतीक पर्व रक्षाबंधन धूमधाम से मनाया गया। बहनों ने जहां तिलक करके भाइयों की कलाई पर रेशम के धागे से बनी राखी बांध लंबी आयु की कामना की। वहीं भाइयों ने सहयोग और सुरक्षा का भरोसा दिया। बहनों ने व्रत तक रखा। पर्व के चलते बाजारों में मिठाई से लेकर राखी की दुकानों पर भीड़ देखने को मिली। वहीं, रोडवेज की बसों में फ्री यात्रा के चलते बहनें सवार होने को लेकर मशक्कत करती भी दिखी। दिनभर में बस में सवार होने के चक्कर में कोई गिरकर चोटिल हुई तो किसी का अंदर बैग फंसा रह गया।

घेवर व बर्फी की जमकर ही खरीद

सावन माह में घेवर सबसे पसंदीदा मिठाई होती है। रक्षा बंधन पर्व के चलते वीरवार को बहनें भाइयों की कलाई पर राखी बांधने के लिए निकली तो बाजार में मिठाई की दुकानों पर भीड़ देखने को मिली। खासकर घेवर और बर्फी की जमकर खरीद हुई। मिठाई पाने के लिए लोगों को कई-कई मिनट तक इंतजार तक करना पड़ा। सादे के बाद देसी घी से बने केसर के घेवर की डिमांड ज्यादा रही। कस्बे में दिन भर वाहनों की भीड़ के चलते रेलवे रोड पर जाम की स्थिति भी बनी रही।

बसों में मारामारी

प्रदेश सरकार की ओर से रोडवेज बसों में रक्षा बंधन पर महिलाओं को लेकर फ्री यात्रा की गई। ऐसे में बसों में सवार होने को लेकर महिलाओं में मारामारी देखने को मिली। पुराना बस अड्डा पर पानीपत और सोनीपत की ओर से जैसे ही बसें आती, वैसे ही महिलाएं सवार होने के लिए दौड़ती दिखी। महिलाओं की संख्या के आगे रोडवेज की बसें तक कम पड़ गई। कई बार तो लंबा इंतजार करना पड़ा।

Edited By: Jagran