जागरण संवाददाता, पानीपत : राजनगर में किराये के मकान में रहने वाले राजमिस्त्री रविकांत उर्फ गोलू की हत्या के आरोपित दोस्त सोनीपत के बंदेपुर गांव के राहुल को पुलिस ने वारदात के 20 घंटे बाद बिझौल के पास से गिरफ्तार किया। आरोपित किसी परिचित वाहन चालक का इंतजार कर रहा था। जिले से बाहर भागने की फिराक में था। माडल टाउन थाना प्रभारी योगेश कुमार ने बताया कि आरोपित राहुल ने पूछताछ में बताया है कि गोलू उस पर ठेकेदार का चमचा होने व मर्दानगी पर भी तंज कसता था। शुक्रवार को दोनों ने शराब पी थी। इसके बाद गोलू ने गाली-गलौज की। इसी वजह से उसने कैंची से गोलू पर वार कर दिए। वारदात में इस्तेमाल कैंची बरामद कर आरोपित राहुल को अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

यह है मामला

रविकांत उर्फ गोलू उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के गांव साल्हाखेड़ी का रहने वाला था। राज नगर की गली नंबर चार में रहने वाले चिनाई ठेकेदार बिजेंद्र ने जागरण को बताया कि उसके पास 25 वर्षीय रविकांत उर्फ गोलू राजमिस्त्री और सोनीपत के बंदेपुर गांव का राहुल कामगार था। दोनों ही राज नगर में गली नंबर चार में आसपास कमरों में किराये पर रह रहे थे। 26 जुलाई को उन्होंने डाहर के पास नया मकान बनाने का ठेका लिया था। जहां पर राहुल और गोलू काम कर रहे थे। दो दिन पहले दोनों ने ठेकेदार के साथ बिझौल नहर पर शराब पी थी। तब गोलू ने राहुल को ठेकेदार का चमचा कह दिया था। इसको लेकर दोनों में मारपीट हो गई थी। तब ठेकेदार ने सुलह करवा दी थी।

ठेकेदार ने बताया कि शुक्रवार शाम को करीब 6:30 बजे राहुल और गोलू ने काम से लौटते समय बिझौल के पास शराब पी थी। रास्ते में दोनों का झगड़ा हो गया। अन्य व्यक्ति के साथ दोनों उलझ गए थे। राहुल अपने कमरे के पास पहुंचा और अंदर से कैंची निकाल कर लाया। गली में कैंची से गोलू की गर्दन व सीने पर दो वार किए। इससे गोलू की मौत हो गई। माडल टाउन थाना पुलिस ने मामला दर्ज किया।

Edited By: Jagran