अंबाला, जागरण संवाददाता। पंजाब पुलिस का वांछित रूबल अंबाला शहर के गांव मरदों साहिब गुरुद्वारे में कारसेवा के लिए आया था। उसे पंजाब पुलिस मंगलवार को गिरफ्तार कर ले गई थी। रूबल के अलावा बाकी तीनों आतंकियों को अमृतसर के अजनाला में उनके गांवों से गिरफ्तार किया गया है। इनके पांचवें साथी गुरमुख सिंह बराड़ को कपूरथला पुलिस ने 20 अगस्त को जालंधर से गिरफ्तार किया था।

अंबाला से जिस रूबल को पंजाब पुलिस गिरफ्तार कर ले गई, वह कुरुक्षेत्र जिले के शाहाबाद-बराड़ा रोड पर स्थित एक गुरुद्वारे से आने का दावा करता था। रोजाना वह शाहाबाद लौटता था। रूबल ने किसी अन्य के मोबाइल से अपने घर फोन किया, जिसके बाद पंजाब पुलिस को पता चल गया कि रूबल कहां पर है। इसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया है। बृहस्पतिवार को अंबाला शहर की सदर थाना पुलिस मरदों साहिब गुरुद्वारे में गई और रूबल के बारे में जानकारी हासिल की।

लोकेशन ट्रेस होने के बाद पहुंची थी पंजाब पुलिस

दरअसल, पंजाब पुलिस ने रूबल के नंबर को ट्रेस पर लगाया हुआ था, लेकिन उसका नंबर बंद थी। इसी दौरान रूबल ने कारसेवा में काम करने वाले जानकार के नंबर से पंजाब अपने घर पर फोन मिला दिया। इसके बाद पंजाब पुलिस के पास इस नंबर की लोकेशन चली गई। उसे गिरफ्तार करने के लिए टीम तैयार की गई और गुरुद्वारा मरदों साहिब के निकट टांगरी नदी के पास से उसे गिरफ्तार कर लिया गया। रूबल पर अमृतसर के अजलाना थाना में हत्या का भी केस दर्ज है। इसी हत्याकांड में उसकी गिरफ्तारी की गई।

रूबल पंजाब का ही रहने वाला है। अंबाला सदर थाने के प्रभारी सुरेश कुमार के अनुसार पंजाब पुलिस से सूचना मिली थी कि मर्डर केस में रूबल नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा आयल टैंकर को उड़ाने की साजिश में इसका भी नाम शामिल होने के बारे में पता चला है।

Edited By: Anurag Shukla