जागरण संवाददाता, पानीपत :

जैन समाज राष्ट्र संत आचार्य प्रवर सुभद्र मुनि के पावन सान्निध्य में महासाध्वी कुसुम प्रभा महाराज को अभिनंदन के साथ उपप्रवर्तिनी पद चादर प्रदान करेगा। चादर पद अभिनंदन समारोह सेक्टर 25 रोज फार्म में रविवार को सुबह 9 बजे से आयोजित किया जाएगा।

आचार्य सम्राट डॉ. शिव मुनि महाराज एवं उत्तर भारत के प्रवर्तक सुमन मुनि महाराज ने उपप्रवर्तिनी पद चादर महासाध्वी कुसुम प्रभा को दिया है। इस ऐतिहासिक क्षण के गवाह बनेंगे उत्तर भारत के गौरव पीयूष मुनि, मुनि रत्न अमित, तपस्वी रघुनाथ महाराज 50 महासाध्वियां, कईं प्रदेशों से आने वाले हजारों श्रद्धालु महोत्सव में शामिल रहेंगे। जैन श्रद्धालु संतों के दर्शन के साथ-साथ प्रवचन का लाभ भी लेंगे। महासाध्वी कुसुम प्रभा का परिचय

महासाध्वी कुसुम प्रभा महाराज का जन्म जींद जिले के कहसून गांव में हुआ। वर्ष 1958 में महासाध्वी कैलाशवती महाराज के निश्राय में जिनत्व पथानुगामी राह संन्यास जीवन स्वीकार किया। तप-त्याग, स्वाध्याय, स्व-ध्यान, सेवा, परोपकार, प्रवचन का मार्ग अपनाया। जन-जन को प्रेम भाईचारे, सौहार्द का संदेश दिया।

महासाध्वी मृदुभाषी, सरल स्वभावी, शांत चित्त, क्रोध, अहंकार की विजेता बनीं। साध्वी कुसुम प्रभा सहजता से सभी को बिना भेदभाव के अपनापन प्रदान करती हैं। इसी कारण से इनके दर्शन मात्र से भक्तों को अपूर्व शांति मिलती है। कुसुम प्रभा जैन ज्योति, सरल आत्मा, आत्म-साधिका विश्लेषण से अलंकृत हैं। जिन शासन की प्रभावना, स्व कल्याण के साथ पर कल्याण में संलग्न है। मानवता का संदेश जन-जन में प्रचार कर रही हैं। जैन सभा के प्रधान जगदीश जैन, मंत्री ईश्वर जैन, पार्षद विजय जैन ने बताया कि जैन समाज के लिए यह गौरव का क्षण है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस