करनाल, जागरण संवाददाता। करीब एक लाख रुपये के लेन-देन के विवाद में एक पुलिसकर्मी पहले युवक को गाड़ी में बैठाकर नेशनल हाईवे बाइपास पर ले गया। वहां उसे जमकर पीटा और फायर कर दिया। पीड़ित इससे बच गया तो सहमी हालत में उसे फिर उसी जगह छोड़ फरार हो गया। वारदात मंगलवार देर रात की है, जिसके बाद पुलिस ने शिकायत मिलने पर मामला दर्ज कर वीरवार को आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। उसे वीरवार को अदालत में पेश किया जाएगा। आरोपित मूल रूप से जींद के गांव इटन कलां का रहने वाला है, जो फिलहाल मधुबन पुलिस अकादमी पांचवी बटालियन में बतौर हवलदार तैनात है। फिलहाल वह पंचकुला में हवलदार के तौर पर ड्यूटी पर था।

गगन सिंगला वासी सदर बाजार ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाते हुए बताया कि उन्होंने संदीप पहलवान से मिंटू वासी सेक्टर 13 की गारंटी पर एक लाख रुपये उधार लिए थे। गत दिवस उसने शाम के समय मुगल कैनाल मार्केट बुलाया। जैसे ही मार्केट पहुंचा तो उसे बातचीत के बहाने गाड़ी में बैठा लिया। वह उससे पूछता रहा, लेकिन बिना कुछ बताए उसे बलड़ी बाईपास पर ले गया, जहां श्मशान घाट के समीप उससे मारपीट शुरू कर दी। फिर आरोपित ने रिवाल्वर निकाली और पहले पेट पर लगाई। इसके बाद मुंह खोलने को कहने लगा। उसने मुंह नहीं खोला तो फायर कर दिया, जिसमें वह बाल-बाल बच गया।

पीड़ित के अनुसार इसके बाद आरोपित ने कहा कि वह उसे दी गई नकदी अभी लौटाए। वह उसे नहर की ओर ले जाने लगा। बाद में किसी तरह उसने एक जानकार से उसकी बात कराई और उसने पैसे लौटाने की गारंटी दी तो आरोपित उसे वापस मुगल कैनाल छोड़कर फरार हो गया। जाते समय भी जान से मारने की धमकी देता रहा। इस वारदात से वह बुरी तरह सहम गया और स्वजनों को सूचना दी। रात को ही वे सेक्टर 13 पुलिस चौकी पहुंचे तो वारदात से अवगत कराया। पुलिस ने शिकायत मिलने पर आरोपित के खिलाफ अपहरण, हत्या के प्रयास व आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। बाद में आरोपित की पहचान पुलिस विभाग में तैनात हवलदार के तौर पर हुई।

करीब दो लाख का था लेन-देन, आरोपित गिरफ्तार : जितेंद्र

मामले की जांच कर रहे सेक्टर 13 चौकी इंचार्ज जितेंद्र कुमार का कहना है कि आरोपित की पहचान संदीप पहलवान के तौर पर हुई, जो जींद के इटन कलां गांव का रहने वाला है और अभी कंपनी के साथ मधुबन से पंचकुला ड्यूटी पर गया हुआ था। आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसे वीरवार को अदालत मेें पेश किया जाएगा। आरोपित के पास अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर है। उस पर गोली चलाने का भी आरोप है, लेकिन गोली चलाई थी या नहीं, यह जांच की जा रही है।

Edited By: Anurag Shukla