अंबाला, जागरण संवाददाता। सर, मेरे घर पर या तो बिजली का मीटर लगवा दो वरना मैं तो यूं ही बिजली चोरी करता रहूंगा। बिना बिजली के कैसे रह सकता हूं। 3 महीने से मीटर के लिए धक्के खा रहा हूं। कुछ दिनों पहले मेरे घर पर कुंडी लगी हुई थी और टीम ने चोरी पकड़ ली थी। मैं तो साफ कह रहा हूं अभी भी मैंने तो कुंडी लगाई है। अंबाला शहर सारंगपुर निवासी जसविंद्र सिंह ने बिजली निगम के उपभोक्ता कष्ट निवारण फोरम के दौरान इसी अंदाज में अपनी बात रखी।

दरअसल जसविंद्र सिंह के घर के ऊपर से हाईटेंशन तारें निकल रही हैं। इसीलिए वहां पर मीटर नहीं लगाया जा सकता। क्योंकि हादसा हो गया तो इसका जिम्मेदार बिजली निगम के अधिकारियों को माना जाएगा। बिजली निगम ने तारों को घर के ऊपर से शिफ्ट करने की अनुमानित लागत एक लाख रुपये बताई है लेकिन जसविंद्र का कहना है कि वह एक लाख रुपये नहीं दे सकता। इसीलिए मीटर नहीं लगने के कारण वह बिजली चोरी कर रहा है।

जब तक मीटर नहीं लगता आगे भी इसी तरह करता रहूंगा। इस पर अधिकारियों ने कहा कि यदि इस बार चोरी पकड़ी गई तो गैर जमानती वारंट जारी होगा। सुबह 11 बजे से 4 बजे तक चली बैठक में करीब 12 शिकायतें आई। इनमें कुछ अधिक बिल, कुछ ट्यूबवेल कनेक्शन तो कुछ किश्तों में बिल लेने और खेतों में गलत तरीके से लगाए पोल को हटाने की आई। बैठक में सीजीआरएफ की सदस्य नीलम व देवशरण विशेष रूप से उपस्थित हुए जबकि अंबाला कैंट, सिटी, नारायणगढ़ सब डिवीजन के एक्सइएन और अन्य सब डिवीजन के एसडीओ मौजूद रहे।

बदतमीज हैं एसडीओ, एक्सइएन भी नहीं उठाते फोन

अंबाला शहर धुरकड़ा से आए गुनीत सिंह ने बताया कि उनका इंडस्ट्रियल कनेक्शन है। । मंगलवार व शनिवार को 7-7 घंटे के कट लगते हैं। बुधवार को भी एक घंटा सुबह और एक घंटा शाम को कट लगता है। कोई लाइनमैन वहां नहीं है। एसडीओ बदतमीज हैं या तो फाेन नहीं उठाते या सुनते ही नहीं। एक्सइएन को भी फोन कर चुके हैं वह भी नहीं सुनते। मुझे यह बताएं कि अनशेड्यूल कट किस बात के लगाए जा रहे हैं। हम क्या बिल बिना लाइट के दें आपको? जब मंगलवार व शनिवार को कट 7-7 घंटे के लगा रहे हैं तो बुधवार और मंगलवार को भी कट क्यों? कैसे हम कर्जा उतारेंगे। हर महीने 25-30 हजार फिक्स चार्ज और लाख रुपये बिल भरते हैं लेकिन बंद फैक्ट्री से तो यह नहीं कर पाएंगे। यह सुन एक्सइएन सुखबीर सिंह ने एसडीओ को निर्देश दिए कि जो भी काम करना है केवल शनिवार को किया जाएगा। इसके अलावा अनशेड्यूल कोई भी कट नहीं लगाया जाएगा।

2 साल बाद पकड़ा दिया 87 हजार रुपये का बिल

कलाल माजरी से आए अमित ने बताया कि उसका दो साल तक तो एवरेज बेस पर बिल भेजते रहे लेकिन अब अचानक दो साल बाद 87 हजार रुपये का बिल पकड़ा दिया। कहा कि पहले गलत बिल भेजने के कारण ऐसा हुआ। सर मेरी क्या गलती है इसमें मैं तो जितना बिल आता रहा भरता था। अब 87 हजार कहां से लाऊं। एक्सइएन ने किश्तों में पेमेंट करने के सुविधा दी कहा कि किश्तों में जो बकाया राशि रहेगी उसपर भी सरचार्ज नहीं लगेगा। हालांकि एसडीओ पहले अड़े रहे कि जो बकाया राशि रहेगी उसपर भी सरचार्ज लेंगे लेकिन बाद में उन्हें नियम पढ़ने की बात एक्सइएन और सीजीआरएफ सदस्य ने कही।

खेतों के रास्ते लगा दिया पोल, नहीं कट पा रही फसल

गांव उपलाना से आए जोनी ने बताया कि 22 अप्रैल को उन्हें बिना सूचना दिए जेई मोहन लाल ने पुलिस साथ लेकर हमारे ट्यूबवेल से 25 एचपी का ट्रांसफार्मर उतारकर दूसरा ट्रांसफार्मर लगाकर उसी फेस से कनेक्शन करते हुए 25 फुट केबल उसके खेत तक डाल दी और पोल लगा दिया। अब खेत में आने-जाने का रास्ता बंद है। एसडीओ नारायणगढ़ को कई बार शिकायत दे चुके हैं सुनवाई नहीं हो रही। अब 5 किले में जीरी पकी खड़ी है लेकिन कंबाइन नहीं जा सकती।

मीटर उतारकर ले गया दुकानदार....

गिरिश कुमार पिपली बाजार ने बताया कि हमने बहुत समय पहले दुकान किराये पर दी थी। उसने अब ने दूसरी जगह दुकान बना ली है लेकिन मीटर हमारी दुकान को उतारकर ले गया है। बिजली निगम वाले भी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैँ।

3 साल से नहीं दे रहे ट्यूबवेल कनेक्शन

अंबाला कैंट रामपुर से आए तेजपाल ने बताया कि 3 साल से ट्यूबवेल कनेक्शन नहीं मिल रहा। उसका जो कनेक्शन था उसने अपने भाई को दे दिया था और भाई के कनेक्शन को अपनी जगह में लगवाना था। इस बारे में शपथ पत्र भी दिया है। रिश्चत के 6500 रुपये भी दे चुका हूं लेकिन सुनवाई नहीं हो रही। एसडीओ केसरी पर कई बार जा चुका हूं लेकिन स्थिति जस की तस है।

2018 में बिल था 10 हजार नहीं भरा तो अब बना दिया 1 लाख 44 हजार

भूरेवाला से आए रिटायर्ड सूबेदार फूमन सिंह ने बताया कि गांव भूरेवाला में मकान 2020 में बेचा था 2019 में कनेक्शन कटवा दिया था। जो बिल 2018 में हमें मिला था वह 10 हजार का था अब जब जिसे मकान बेचा था वह नया कनेक्शन लगवाने गए तो उसे बताया गया कि पहले एक लाख 44 हजार रुपये भरो।

Edited By: Naveen Dalal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट