पानीपत, जेएनएन  : हरियाणवी गायिका हर्षिता दहिया की हत्या कर दी गई। कार में ही ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई गईं। हर्षिता की हत्या करने के आरोपित पकड़े भी गए। आरोपित भी कोई छोटे नहीं, बल्कि गैंगस्टर हैं। ये हैं गैंगस्टर जितेंद्र मान उर्फ गोगी और उसका ही शूटर कुलदीप उर्फ फज्जा। दोनों ही  तिहाड़ जेल में बंद हैं। पानीपत की पुलिस चाहकर भी इन बदमाशों से पूछताछ नहीं कर पा रही। 

दोनों बदमाशों को सीआइए-टू तिहाड़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर नहीं ला पाई है। सीआइए-टू तीन बार कोर्ट में वारंट के लिए अर्जी डाल चुका है। बता दें कि हर्षिता की हत्‍या उसके जीजा ने ही कराई थी। दरअसल, जीजा दिनेश कराला चाहता था कि हर्षिता उसके खिलाफ गवाही न दे। 

कोविड का हवाला

तिहाड़ जेल प्रशासन ने कोविड-19 का हवाला देकर बदमाशों को वारंट पर ले जाने से पानीपत पुलिस को मना कर दिया है। डीएसपी मुख्यालय सतीश कुमार वत्स ने बताया कि जल्द ही जितेंद्र गोगी और फज्जा को प्रोडक्शन वारंट पर लाने के लिए कोर्ट में फिर से अर्जी डाली जाएगी। 

इसलिए हत्या की थी 

दिल्ली के गैंगस्टर दिनेश कराला की हरियाणवी गायिका हर्षिता दहिया साली थी और उसके खिलाफ मामले में गवाह थी। पुलिस के अनुसार कराला चाहता था कि हर्षिता उसके विरुद्ध गवाही न दे, लेकिन वो मान नहीं रही थी। इसी वजह से कराला के कहने पर गैंगस्टर जितेंद्र मान ने अपने शूटर कुलदीप उर्फ फज्जा के साथ मिलकर 17 अक्टूबर 2017 को चमराड़ा गांव के पास गोलियां बरसाकर हर्षिता की हत्या कर दी थी। 

पुलिस को बताया था सच 

पानीपत पुलिस ने कराला को प्रोडक्शन वारंट पर लाकर पूछताछ की तो उसने बताया कि हर्षिता की जितेंद्र उर्फ गोगी ने हत्या की है। गोगी चूंकि  तिहाड़ जेल में है। जेल में होते हुए भी पानीपत पुलिस उससे बात नहीं कर पा रही। उससे कोई और राज भी खुल सकते हैं। तिहाड़ जेल प्रशासन उसे ले जाने की अनुमति नहीं दे रहा।

Edited By: Ravi Dhawan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट