राज सिंह, पानीपत

जिले में एलपीजी (लिक्विफाइड पेट्रोलियम गैस) के तकरीबन 20 हजार उपभोक्ताओं ने केवाइसी (नो योर कस्टमर) से जुडे़ दस्तावेज जमा नहीं कराए हैं। पेट्रोलियम कंपनियों ने ऐसे ग्राहकों को 31 मार्च 2018 तक केवाइसी दस्तावेज जमा कराने की अंतिम चेतावनी जारी की है। दस्तावेज जमा नहीं होने पर कनेक्शन को फर्जी मानते हुए पूर्ण रूप से ब्लॉक कर दिया जाएगा।

पानीपत में 29 गैस एजेंसियां हैं। इनमें इण्डेन की 20, भारत पेट्रोलियम की 3 और हिंदुस्तान पेट्रोलियम की 6 एजेंसियां हैं। तीनों एजेंसियों से करीब 2 लाख 74 हजार ग्राहक जुडे़ हैं। सबसे अधिक ग्राहक करीब 1 लाख 75 हजार इण्डेन के हैं। भारत पेट्रोलियम के करीब 32 हजार और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के लगभग 47 हजार ग्राहक हैं। पेट्रोलियम कंपनियों की मानें तो केवाइसी के दस्तावेज जमा नहीं कराने वाले ग्राहकों की संख्या 4-15 प्रतिशत तक है। पेट्रोलियम कंपनियां गैस एजेंसियों के माध्यम से उपभोक्ताओं को दस्तावेज जमा कराने की चेतावनी देती रही हैं।

केवाइसी दस्तावेज जमा नहीं कराने वाले उपभोक्ताओं को कंपनियों ने अब 31 मार्च तक का समय दिया है। इससे पहले दस्तावेज जमा नहीं कराने पर बिना पूर्व सूचना के कनेक्शन ब्लॉक कर, सिलेंडर की आपूर्ति बंद कर दी जाएगी।

एजेंसी मालिकों पर भी नजर :

बार-बार चेतावनी के बावजूद केवाइसी दस्तावेज जमा नहीं कराने के मामले में पेट्रोलियम कंपनियां गैस एजेंसी संचालकों को भी संदिग्ध नजरों से देख रही हैं। कंपनियों का मानना है कि कहीं फर्जी दस्तावेजों के आधार पर एजेंसियों के मालिकों ने तो ये कनेक्शन नहीं लिए हुए हैं।

ये दस्तावेज जमा कराने होंगे :

गैस कनेक्शन लेते समय उपभोक्ता को पहचान और आवास संबंधी दस्तावेज जमा कराने होते हैं। इसमें व्यक्तिगत डिटेल जैसे नाम, फोटो, उम्र और परिवार के सदस्यों के नाम, फोन नंबर, ई-मेल एड्रेस भी देने होते हैं। केवाइसी दस्तावेज के रूप में भी उपभोक्ताओं को यही दस्तावेज दोबारा देने होंगे।

आवास संबंधी दस्तावेज :

आवास संबंधी दस्तावेज के तौर पर आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, टेलीफोन, मतदाता पहचान पत्र, बिजली बिल, बीमा पॉलिसी, हाउस रजिस्ट्रेशन कागजात व राशन कार्ड की प्रतिलिपि दे सकते हैं।

पहचान के लिए दस्तावेज :

खुद की पहचान के लिए आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, पेन कार्ड, सेंट्रल या राज्य सरकार द्वारा जारी किया गया परिचय पत्र व ड्राइविंग लाइसेंस लाइसेंस की प्रति साथ लेकर जाएं ।

वर्जन :

भारत पेट्रोलियम के पानीपत में करीब 2 हजार उपभोक्ता हैं, जिन्होंने केवाइसी के लिए दस्तावेज जमा नहीं कराए हैं। गैस एजेंसियों के माध्यम से सभी को चेतावनी दी जा रही है।

निखिल कुमार, फील्ड मैनेजर-भारत पेट्रोलियम

--

केवाइसी के लिए दस्तावेज जमा नहीं कराने वाले उपभोक्ताओं की सप्लाई बंद होनी थी। अब उपभोक्ताओं को 31 मार्च तक की अंतिम चेतावनी दी जा रही है।

गरिमा, फील्ड मैनेजर-इण्डेन

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस