पानीपत, जागरण संवाददाता। पैसे की खनक के लिए नौकरों का ईमान डोल गया। वे जिस कंपनी में काम करते थे वहीं पर डकैती व चोरी जैसे संगीन अपराध करने से भी नहीं चुके। ऐसा करके वे मालिकों का विश्वास भी तोड़ दिया। इस तरह की वारदातों से मालिक हैरत में हैं और पुलिस भी परेशान हैं। बरसत रोड स्थित एक कंपनी में उसी के नौकर ने दोस्तों के संग मिलकर हथियार के बाल पर डकैती की वारदात कर दी। अब आरोपित सलाखों के पीछे है।

सेक्टर-25 हाईवे पर वर्कशाप मालिक ने कम पैसे दिए तो मैकेनिक ने हजारों का सामान ही चुरा लिया। पुलिस ने आरोपित मैकेनिक गिरफ्तार किया। डीएसपी मुख्यालय धर्मबीर खर्ब ने बताया कि नौकरों की पुलिस वेरिफिकेशन कराई जाना चाहिए। ताकि वारदात होने के बाद आरोपित नौकरों को पुलिस गिरफ्तार कर सके।

केस-एक : फ्लिपकार्ट के कार्यालय में डाली डकैती

उत्तर प्रदेश के कैराना का माजिद ने बरसत रोड स्थित फ्लिपकार्ट कंपनी के कार्यालय में तीन महीने नौकरी की। उसे पता था कि कार्यालय में हर रोज कितने रुपये जमा होते हैं। उसके मन में लालच आ गया और शार्टकट में लखपति बनने की लालसा हुई। उसने चार दोस्तों के साथ मिलकर हथियार के बल पर कार्यालय में डकैती डाल दी। कर्मचारियों को बंधक बना लिया और उनसे नकदी व मोबाइल फोन लूट लिए। पांच आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया।

केस-दो : वर्कशाप से सामान चोरी चोरी कर लिया

दलबीर नगर में किराये पर रहो वाला रमजान सेक्टर-25 हाईवे स्थित एक वर्कशाप पर मैकेनिक था। रमजान ने वर्कशाप से पुरानी मोटरें व अन्य सामान चोरी कर लिया। सामान को कबाड़ी को बेच दिया। वर्कशाप मालिक को रमजान पर शक हुआ तो पुलिस को शिकायत कर दी। पुलिस ने रमजान को गिरफ्तार किया। पुलिस पूछताछ में आरोपित रमजान ने बताया कि मालिक उसे बहुत कम पैसे देता था। जिससे उसका गुजारा नहीं होता था। इसी वजह से उसे वारदात की।

Edited By: Anurag Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट