पानीपत, जागरण संवाददाता। कोरोना की तीसरी लहर कहर बरपा रही है। पानीपत में शुक्रवार को 281 की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इनमें एक साल से 17 साल के 26 बच्चे-किशोर शामिल हैं। सर्वाधिक 43 केस रिफाइनरी टाउनशिप में मिले हैं। जीटी रोड स्थित एक ग्रुप की दो कंपनियों में 21 केस मिले हैं। तीन सरकारी,एक निजी चिकित्सक की रिपोर्ट भी कोरोना पाजिटिव मिली है।

रिफाइनरी टाउनशिप में तेजी से बढ़ रहे केस

सिविल सर्जन डा.जितेंद्र कादियान ने यह जानकारी जागरण को दी है। रिफाइनरी टाउनशिप में बढ़ते केसों पर उन्होंने कहा कि संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। जैस-जैसे वहां पाजिटिव केस बढ़ रहे हैं, निकट संपर्क में आए लोग भी जांच करा रहे हैं। वहां एक सप्ताह से रोजाना 10 से 25 केस तक मिल रहे हैं, शुक्रवार को संख्या 43 तक पहुंच गई। जीटी रोड स्थित एक ग्रुप की दो कंपनियों की भी ऐसी ही स्थिति है। इनके अलावा एल्डिको वासी आयुष विभाग की डाक्टर, सिविल अस्पताल के हड्डी रोग विशेषज्ञ, सरकारी अस्पताल की एक डाक्टर,एक निजी प्रेक्टिशनर भी कोरोना संक्रमित मिले हैं। दो चिकित्सकों ने कोरोना जांच के लिए स्वाब सैंपल दिए हैं।

इनके अलावा हशविप्रा के विभिन्न सेक्टरों, माडल टाउन, गांव ददलाना, अंसल सोसाइटी, यमुना एंकलेव, विराट नगर, सनौली रोड, एनएफएल कालोनी, एल्डिको सहित गांवों में भी कोरोना के केस मिले हैं।

45 ने कोरोना को हराया

शुक्रवार को कोरोना से 45 रिकवर हुए। अब तक पाजिटिव मिले 32 हजार 591 केसों में 30 हजार 454 रिकवर हो चुके हैं। सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक 642 की मौत हो चुकी है। हालांकि, 12 जनवरी को खटीक बस्ती में मृत मिले बुजुर्ग की रिपोर्ट भी पाजिटिव आई थी। वह मौत इस संख्या में नहीं जुड़ी है।

ऐसे हैं 1295 एक्टिव केस

812 होम हाइसोलेशन में

22 निजी अस्पतालों में भर्ती

09 अन्य अस्पतालों में भर्ती

452 होम आइसोलेशन के लिए विचारणीय

हड्डी रोगियों को नहीं मिलेगा इलाज

सिविल अस्पताल में आगामी करीब एक सप्ताह तक हड़्डी संबंधी रोगियों को इलाज नहीं मिलेगा। इसका कारण डाक्टरों का कोरोना पाजिटिव होना है। अस्पताल में दो हड्डी रोग विशेषज्ञ हैं, एक-एक कर दोनों पाजिटिव हो चुके हैं। कुछ लोगों के मेडिकल में भी बाधा संभावित है।

Edited By: Rajesh Kumar