जागरण संवाददाता, समालखा : स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषण की वर्षगांठ पर मंगलवार को अपोलो इंटरनेशनल स्कूल और विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी के तत्वाधान में एक दौड़ देश के नाम का आयोजन किया गया। प्रतिभागियों को महिला सरपंच निशा छौक्कर ने प्रोत्साहित किया।

स्कूल प्रिंसिपल रजनी शर्मा ने कहा कि भारतीय संस्कृति बहुत ही प्राचीन है। जो अपनी एक अलग पहचान रखती है। जहां सभी धर्मो, वेशभूषा और भाषाओं को पूरा सम्मान दिया जाता है। इसका एक उदाहरण 11 सितंबर को शिकागो केंद्र अंतर्राष्ट्रीय धर्म सम्मेलन के दौरान स्वामी विवेकानंद ने अपने भाषण में दिया था। वो हमारे लिए प्रेरणादायक। उन्होंने सदैव युवाओं को आगे बढ़ने और राष्ट्र को उन्नत बनाने का संदेश दिया। हमें ऐसे महान व्यक्ति के जीवन से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ना चाहिए। वहीं सरपंच निशा छौक्कर ने भी स्वच्छता अभियान, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, जल संरक्षण और पर्यावरण संरक्षण पर अपने विचार रखे। इस मौके पर स्टाफ सदस्य भी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran