पानीपत/करनाल, जेएनएन। कुख्यात एक लाख के इनामी बदमाश सुनील उर्फ खीरा को राजस्थान की गंगानगर पुलिस ने काबू कर लिया है। इसके लिए पहले से ही पकड़े गए बदमाश पतला गुर्जर की सूचना पर पुलिस ने दबिश दी। सूत्रों के अनुसार राजस्थान पुलिस ने उसे हरियाणा पुलिस के हवाले कर दिया है। अब उसे करनाल लाया जाएगा, जहां अदालत में पेश कर उसे रिमांड पर लिया जा सकता है।

बता दें कि 28 मई को यमुनानगर की जगाधरी जेल से कैदी सुनील उर्फ खीरा को लेकर एएसआइ सुरेश, सिपाही संदीप कुमार और हेड कांस्टेबल करनाल पेशी के लिए लेकर आए थे। कोर्ट में पेशी के बाद वापस जा रहे थे। करनाल नए बस अड्डे से जब बस में बैठने लगे तो पहले से ही इंतजार में खड़े तीन बदमाशों ने उनकी आंखों में मिर्च का स्प्रे कर फायरिंग कर दी थी। दो गोली एएसआइ और एक सिपाही को लगी थी। इसके बाद खीरा को लेकर फरार हो गए थे। खीरा लूट के एक मामले में सात साल की सजा काट रहा था।

हत्या सहित कई मामले दर्ज है खीरा पर
सुनील मूलरूप से पानीपत के भादड़ गांव का रहने वाला है। अब वह करनाल के कर्ण विहार में रहता था। सुनील पर लूट, हत्या व डकैती के मामले दर्ज हैं। 16 जून 2016 को सुनील ने कारपेंटर पृथ्वी विहार के सुशील उर्फ बबलू की गोली मार दी थी। यमुनानगर में भी सुनील पर लूट व डकैती के तीन केस हैं। करनाल में पांच केस दर्ज हैं। सुनील ने तीन साथियों करनाल के रावल निवासी तरुण और रायपुर निवासी संजीव और प्रिंस शर्मा के यमुनानगर के राजेश से 23 सितंबर 2016 की रात गोली मारकर दो लाख लूटे थे। 16 नवंबर 2018 को एडिशनल सेशन जज ने चारों को सजा सुनाई थी। 2 जून 2016 की रात को यमुनानगर के खजूरी के रघुवीर सिंह को गोली मार दी थी।  30 अक्टूबर 2016 को रायपुर कामी माजरा में कमरे में घुसकर वहां रह रहे लोगों पर फायरिंग की। यहां शिवचरण नामक व्यक्ति को गोली लगी थी।

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप