जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : धर्मनगरी के ब्रह्मासरोवर में अब पानी रूक कर गंदा नहीं होगा। यह निरंतर प्रवाहित होता रहेगा।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ब्रह्मासरोवर के पवित्र जल में देश-विदेश से स्नान करने वाले लाखों श्रद्धालुओं को एक बड़ी सौगात देने के लिए 30 नवंबर को कुरुक्षेत्र में पहुंच रहे हैं। इस परियोजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री मनोहर लाल 30 नवंबर को सुबह 9 बजे ब्रह्मासरोवर से ही करेंगे। अहम पहलू यह है कि इस परियोजना पर ¨सचाई विभाग की तरफ से करीब 17 करोड़ रुपये का बजट खर्च किया जाएगा।

विधायक सुभाष सुधा ने बुधवार को ब्रह्मासरोवर पर कार्यक्रम की तैयारियों का निरीक्षण किया। इससे पहले विधायक सुभाष सुधा, डीसी डॉ. एसएस फुलिया, एडीसी अनिश यादव, केडीबी के मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा, सदस्य सौरव चौधरी ने ब्रह्मासरोवर के निरंतर जल प्रवाह स्थल का भ्रमण कर निरीक्षण किया। विधायक ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री गुलजारी लाल नंदा व लाखों श्रद्धालुओं के सपने को पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल स्वयं कुरुक्षेत्र की धरा पर पहुंच रहे है। इस परियोजना के शुरु होने से ब्रह्मासरोवर में रोजाना 40 क्यूसिक पानी आएगा और 20 क्यूसिक पानी रोजाना पानी की निकासी होगी। हालांकि ब्रह्मसरोवर की कुल कैपसिटी 50 क्यूसिक की बताई जा रही है। कुछ समय बाद ब्रह्मासरोवर से निकासी के 20 क्यूसिक पानी से ¨सचाई भी की जाएगी। इसका खाका ¨सचाई विभाग की तरफ से तैयार किया गया है। यह परियोजना श्रद्धालुओं के साथ-साथ किसानों के लिए भी वरदान साबित होगी।

विधायक ने कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने और संबंधित विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि कार्यक्रम की तैयारियों में किसी प्रकार की खामी नहीं रहनी चाहिए, क्योंकि यह कार्यक्रम कुरुक्षेत्र ही नहीं हरियाणा प्रदेश का एक ऐतिहासिक कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न गुलजारी लाल नंदा के प्रयासों से ही ब्रह्मासरोवर के साथ-साथ कुरुक्षेत्र के पर्यटन और तीर्थस्थलों का विकास किया गया। इन तीर्थो के विकास के लिए कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड की स्थापना की गई। बॉक्स

विकास रैली में की थी घोषणा सुधा ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने थानेसर विकास रैली में ब्रह्मासरोवर में निरंतर जल प्रवाह योजना की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद फरवरी 2017 में इस परियोजना की आधारशिला रखी गई और नवंबर में इस परियोजना को पूरा कर लिया गया है। ज्योतिसर भाखड़ा नहर से ब्रह्मासरोवर तक निरंतर स्वच्छ जल प्रवाह के लिए पाइप लाइन बिछाई गई और पानी निकासी के लिए ब्रह्मासरोवर से लेकर भाखड़ा नहर तक ड्रेन बनाई गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस