पानीपत, [कपिल पूनिया]। हरियाणा सरकार ने प्रदेश के सभी 25 से कम छात्र संख्या वाले राजकीय स्कूलों को बंद करने का निर्णय लिया है। पानीपत में ऐसे कुल नौ प्राइमरी स्कूल हैं, जिनमें छात्रों की संख्या 25 से कम हैं। इनमें चार स्कूल मतलौडा, दो-दो स्कूल बापौली और इसराना तथा एक स्कूल समालखा का है। इन 10 से 23 छात्र संख्या वाले विद्यालयों में दो-दो शिक्षक तैनात है। मौलिक शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों की सूची निदेशालय को सौंपी है।

प्रदेश के अनेक राजकीय विद्यालयों में छात्रों की संख्या बहुत कम है। जबकि प्रदेश 25 छात्रों पर एक शिक्षक का प्रावधान है। ऐसे में दस-दस छात्रों पर दो-दो शिक्षक है। जिससे अधिक छात्र संख्या वाले स्कूलों को शिक्षकों की कमी है। शिक्षक और छात्र अनुपात को संतुलित करने के लिए अब प्रदेश सरकार ने 25 से कम छात्र संख्या वाले राजकीय स्कूलों को बंद करने का निर्णय लिया है। हाल ही में शिक्षा मंत्री कंवपाल गुर्जर ने भी ऐसे विद्यालयों को बंद करके उनके छात्रों को नजदीकी विद्यालय में पंजीकृत कराने की बात कही थी। निदेशालय के आदेश पर मौलिक शिक्षा विभाग ने जिले के 25 से कम छात्र संख्या वाले विद्यालयों की सूची तैयार की है। जिले के नौ प्राइमरी स्कूलों में छात्रों की संख्या दस से 23 है। विभाग ने इन विद्यालयों के निकटतम राजकीय विद्यालय का नाम और उसकी दूरी भी निदेशालय को भेजी है। ताकि इन विद्यालयों के बच्चों को निकटतम विद्यालयों में पंजीकृत कराया जा सके। 

इन विद्यालयों में है 25 से कम छात्र संख्या

1- राजकीय प्राइमरी स्कूल डेरा गुजरान, मतलौडा, दस छात्र

2- राजकीय प्राइमरी स्कूल, बेगमपुर, मतलौडा, 16 छात्र

3- राजकीय प्राइमरी स्कूल, नया नारा, मतलौडा, 18 छात्र

4- राजकीय प्राइमरी स्कूल, जीतगढ़, मतलौडा, 20 छात्र

5- राजकीय प्राइमरी स्कूल, गढ़ी त्यागयान, समालखा, 17 छात्र

6- राजकीय प्राइमरी स्कूल, रामपुरा, इसराना, 12 छात्र

7- राजकीय प्राइमरी स्कूल, खलीला माजरा, इसराना, 16 छात्र

8- राजकीय प्राइमरी स्कूल, डेरा जोगी, बापौली, 23 छात्र

9- राजकीय प्राइमरी स्कूल, ताहरपुर, बापौली, 23 छात्र।

शिक्षा निदेशालय ने जिले के 25 से कम छात्र संख्या वाले विद्यालयों की सूची और उनके निकटतम विद्यालय की दूरी मांगी की सूचना मांगी है। 25 से कम छात्र संख्या वाले विद्यालयों के बच्चों को निकटतम विद्यालय में पंजीकृत कराने की तैयारी है। निदेशालय को सूची उपलब्ध करा दी गई है। आदेश मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

रामफल घनखड़, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, पानीपत।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस