करनाल, जागरण संवाददाता। करनाल बसताड़ा टोल प्लाजा पर 5 मई को पकड़े गए आतंकियों के मामले की जांच अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए करेगी इसके लिए सरकार की ओर से आदेश जारी कर दिए गए हैं। हालांकि जिला पुलिस के पास देर रात तक भी इस संबंध में आदेश नहीं पहुंचे थे लेकिन सरकार द्वारा जारी किए गए आदेशों की चर्चा सुबह से ही शुरू हो गई थी जो देर रात तक जारी रही।

ये था पूरा मामला

बता देगी 5 मई को टोल प्लाजा पर आईबी के इनपुट कर जिला पुलिस की टीम ने इनोवा में सवार चार आतंकियों को गिरफ्तार किया था यह चारों विस्फोटक व हथियार तेलंगाना के आदिलाबाद में रखने के लिए जा रहे थे। गुरप्रीत उस पर भाई अमनदीप भूपेंद्र वह रुपिंदर नामक इन आरोपितों से पुलिस टीम ने विस्फोटक व हथियार भी बरामद किए थे तो वहीं दो फर्जी आरसी भी इनकी गाड़ी से मिली थी।

फिलहाल आरोपित आतंकी गुरप्रीत व अमनदीप को फिरोजपुर पुलिस ने प्रोडक्शन वारंट पर लेकर रिमांड पर लिया हुआ है तो वही आरोपित भूपेंद्र वह रुपिंदर अभी करनाल जेल में बंद है अब इन्हें भी फिरोजपुर पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर लेकर जाने की तैयारी कर चुकी है हालांकि इन्हें पहले भी एक बार ले जाए जा चुका है।

जब यह चारों आरोपित टोल प्लाजा पर पकड़े गए थे तो पंजाब पुलिस उस दौरान भी पूछताछ करने के लिए पहुंची थी तो वही एनआईए की टीम ने भी पूछताछ की थी यही नहीं तेलंगाना मुंबई व अन्य जगहों से भी जांच एजेंसियों की टीमें यहां पूछताछ करने के लिए पहुंची थी तो अभी करनाल पुलिस ही इस पूरे मामले की जांच कर रही थी। बताया जा रहा है कि वीरवार को सरकार ने यह जांच एनआईए को सौंप दी है।

अभी नहीं मिले आदेश, एसपी

गंगाराम पूनिया का कहना है कि आतंकियों को लेकर पूरे मामले की जांच एनआईए को सौंपी जाने की चर्चा संज्ञान में आई है लेकिन अधिकारिक तौर पर इस संबंध में अभी उनके पास कोई आदेश नहीं आए हैं। अभी जिला पुलिस अपनी जांच जारी रखे हुए हैं

Edited By: Naveen Dalal