फालोअप

-मंगलवार को रोहतक में जेएलएन नहर में बोहर नाका के पास मिला था शव

जागरण संवाददाता, समालखा : रोहतक के अर्बन स्टेट थाना की जीरो एफआइआर पर समालखा पुलिस ने चुलकाना रोड के शास्त्रीनगर वासी विकास की मौत के मामले में उसके पिता महाबीर सिंह की शिकायत पर दो व तीन अज्ञात युवक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। शव का रोहतक पीजीआइ में पोस्टमार्टम हुआ है।

पूर्व सैनिक पिता महाबीर सिंह ने बताया कि उसका 20 वर्षीय बेटा विकास पांच बहनों और दो भाइयों में सबसे छोटा था। 12वीं कर निजी फैक्ट्री में काम करता था। 10 अप्रैल की शाम 7 बजे वह दो-तीन दोस्तों के साथ घर से निकला था। 11 अप्रैल की रात 10 बजे उसने अपनी बहन मधु के मोबाइल पर मिस कॉल की। 12 अप्रैल की सुबह मिस कॉल वाले नंबर पर बहन ने कॉल किया तो जवाब मिला कि कल मेरे नम्बर से किसी लड़के ने फोन मिलाया था। उसने विकास के निजी नंबर पर कॉल मिलाया तो वह नहीं मिला। बहन ने पिता को मामले से अवगत कराने के उपरांत विकास के नंबर को रिचार्ज करवाकर दोबारा कॉल की तो किसी लड़के ने बार-बार कॉल न करने की बात कहकर फोन काट दिया। स्वजनों ने रिश्तेदारियों में पता किया, लेकिन विकास का सुराग नहीं लगा। 13 अप्रैल को पुलिस चौकी समालखा के माध्यम से पिता को रोहतक के बोहर नाका के पास जेएलएन नहर में बेटे का शव मिलने की सूचना मिली। विकास के जेब में आधार कार्ड था। पीजीआइ रोहतक में शिनाख्त के दौरान पिता ने विकास के मुंह, नाक, सिर, हाथों व पैरों पर चोट के निशान देखकर हत्या की आशंका जताई। उन्होंने घर से बेटे को ले जाने वाले दोस्तों पर हत्या का अंदेशा जाहिर किया औरमारपीट कर नहर में फेंकने की बात कही।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021