जागरण संवाददाता, पानीपत: सैनी कालोनी में दिहाड़ी मांगने पर एक श्रमिक को दो ठेकेदारों ने मकान मालिक के साथ मिलकर पीटा और छत से धक्का दे दिया। इससे श्रमिक की मौत हो गई। पुलिस ने तीनों आरोपितों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

उत्तर प्रदेश के जिला शामली के कैराना निवासी नफीस ने बताया कि वह भारत नगर में रहता है। उसकी सब्जी मंडी में आढ़त की दुकान है। उसके पास सावेज काम करता है। सावेज का मामा 23 वर्षीय मुंशाद मकान में लेंटर का सरिया बांधने का काम करता था।

3 अप्रैल को मुंशाद सैनी कालोनी में नर सिंह के मकान में लेंटर का सरिया बांधने गया था। वह सावेज के साथ मुंशाद का खाना देने गया था। छत पर खड़े मुंशाद ने दिहाड़ी के रुपये मांगे तो ठेकेदार चंद्रेश, धर्मेंद्र और नर¨सह ने उसे पीटा। फिर तीनों ने मुंशाद को छत से धक्का दे दिया। इससे मुंशाद के सिर पर गहरी चोट लगी। वे घायल को टैंपो से लेकर प्रेम अस्पताल पहुंचे, जहां से उसे दिल्ली रेफर कर दिया। दिल्ली में 5 अप्रैल को इलाज के दौरान मुंशाद की मौत हो गई। इस बारे में किला थाना प्रभारी सुरेश पाल का कहना है कि नफीस की शिकायत पर ठेकेदार चंद्रेश, धर्मेंद्र व नर¨सह के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

छीन गया घर का सहारा : मुंशाद मूल रूप से उत्तर प्रदेश के जिला सहारनपुर के गांव खानपुर का रहने वाला था। वह अपने दो छोटे भाई, बहन व विधवा मां के साथ भारत नगर में रहता था। उसी पर परिवार की परवरिश की जिम्मेदारी थी। मुंशाद के तीन बड़े भाई हैं, जो उससे अलग रहते हैं। मुंशाद की मंगनी हो चुकी थी। निकाल 2019 में होना था। मुंशाद की मौत से घर का सहारा छीन गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप