पानीपत/अंबाला, जेएनएन। अंबाला के गांव मंडोर में एक के बाद एक शराब के तीन अवैध गोदाम मिलने के बाद आबकारी विभाग को शराब तस्करों के खिलाफ सोमवार से मोर्चा खोलना था। इसके लिए विभाग ने पुलिस अधीक्षक राजेश कालिया को पत्र लिखकर छह पुलिसकर्मियों की मांग की थी।

छापेमारी जिले के गांव मोहड़ा, साहा, मंडोर व देवीनगर आदि जगहों पर होनी थी, लेकिन इससे पहले ही सूचना लीक हो गई। ऐसे में शराब माफिया ने कार्रवाई के डर से ठिकाने पर अवैध रूप से जमा की गई शराब की पेटियों को अंबाला-अमृतसर नेशनल हाईवे स्थित देवीनगर से थोड़ा आगे सुआ (छोटी माइनर) के पास गंदे नाला में फेंक दिया।

इस मामले में जब तक सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची तब तक आसपास के लोग भारी मात्रा में शराब उठाकर ले जा चुके थे। पुलिस को मात्र 2117 शराब बोतलें-पव्वे ही हाथ लगे। सूत्रों के अनुसार, शराब माफिया इन पेटियों को किसी कंटेनर में लेकर आए थे और रात को देवीनगर नाका पर खड़ी पुलिस को देख नाला में फेंक कर चले गए। सदर थाना पुलिस ने मामले में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

शराब लेने के लिए मची आपाधापी

नाले में पड़ी शराब की पेटियों को सबसे पहले सुबह सैर कर रहे लोगों ने देखा। क्योंकि इतनी अधिक मात्रा में पड़ी शराब की पेटियों से काफी बदबू आ रही थी। सैर करने वालों ने देखा कि लोगों में शराब की पेटियों को उठाने की होड़ मची थी और कुछ लोग पेटियों को कंधे पर रख भाग रहे थे। इसके बाद उन्होंनेे पुलिस को सूचना दी, लेकिन जब तक पुलिस व आबकारी विभाग की टीम मौके पर पहुंचती तब तक लोग काफी मात्रा में शराब उठाकर ले जा चुके थे। नाला से जो शराब की बोतलें और पव्वे मिले हैं उन पर कइयों पर शराब मार्का का लेबल लगा था जबकि कइयों पर नहीं था।

सूचना मिलने के बाद मौके पर गए थे। यहां नाले में शराब की पेटियां पड़ी थीं। शराब की बोतलें और पव्वे बाहर बिखरे हुए थे। गिनती करने पर कुल 2117 शराब की बोतल व पव्वे बरामद हुए हैं। पुलिस में केस दर्ज करवा दिया गया है। मामले में कार्रवाई की जा रही है।

- मोहन राणा, इंस्पेक्टर, आबकारी विभाग।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस