जींद, जागरण संवाददाता। मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण करवाने का अंतिम मौका है। हरियाणा के किसान रविवार 17 अक्‍टूबर की शाम तक पोर्टल पर पंजीकरण करवा सकते हैं। बता दें कि विभाग की तरफ से 14 अक्टूबर को साइट दोबारा से खाेली गई थी। जो किसान अब तक अपनी फसल का पंजीकरण नहीं करवा पाए थे, उनके लिए आखिरी मौका दिया हुआ है। इसके बाद पंजीकरण नहीं होगा। किसान 17 अक्टूबर शाम पांच बजे तक इस पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं।

पंजीकरण के लिए किसानों को प्रेरित कर रहे है कृषि विभाग के कर्मचारी

जिला कृषि व कल्याण विभाग, मार्केट बोर्ड के कर्मचारी किसानों को अपनी फसल का पंजीकरण करवाने के लिए गांवों में जाकर प्रेरित कर रहे हैं। प्रदेश सरकार के विशेष निर्देश पर ये अभियान चलाए जा रहे है। घर- घर जाकर कृषि विभाग के कर्मचारियों द्वारा पोर्टल पर पंजीकरण किया जा रहा है।

सरकारी खरीद के लिए पंजीकरण जरूरी

किसान को अपनी फसल सरकारी रेट पर बेचने के लिए पंजीकरण करवाना जरूरी है। जो किसान अपनी फसल का पंजीकरण करवा लेता है। उसकी फसल सरकार निर्धारित समर्थन मूल्य पर खरीदती है।

ये कागज जरूरी

फसलों का पंजीकरण करवाने के लिए संबंधित किसान के पास परिवार पहचान पत्र का होना अनिवार्य है। किसान कोई जानकारी प्राप्त करने के लिए टोल फ्री नंबर 1800-180-2117 पर संपर्क कर सकते हैं। किसान अपनी फसल का पंजीकरण पोर्टल पर जाकर स्वयं या अटल सेवा केंद्र के माध्यम से करवा सकते हैं।

20 फीसद किसान बचे है अब भी पंजीकरण के लिए

कृषि उपनिदेशक सुरेंद्र ने बताया कि जींद जिले में 20 फीसद किसान पंजीकरण नहीं करवा पाए थे। बाजारा के किसान सबसे ज्यादा है। कपास व धान के किसानों ने लगभग पंजीकरण करवा लिया है। कल तक किसान विभाग की साइट पर जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं। उसके बाद पोर्टल नहीं खुलेगा। सरकारी रेट पर फसल बेचने के लिए पंजीकरण जरूरी है।

Edited By: Anurag Shukla