कैथल, जागरण संवाददाता। मार्केटिंग बोर्ड के जोनल अधिकारी गगनदीप सिंह ने रविवार को कैथल नई अनाज मंडी, कलायत, पूंडरी, सीवन व गुहला अनाज मंडियों का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने धान खरीद को लेकर मंडियों में की गई व्यवस्थाओं को जांचा। कई जगह मिली खामियों को लेकर जल्द दूर करने के निर्देश मार्केट कमेटी अधिकारियों को दिए। सबसे पहले पूंडरी अनाज मंडी का निरीक्षण किया। इसके बाद कलायत मंडी का निरीक्षण करते हुए कैथल नई अनाज मंडी पहुंचे। यहां खरीदी गई धान के स्टाक को लेकर रजिस्टर में दर्ज रिकार्ड को जांचा।

मंडी में सीसीटीवी लगाए जाएंगे

धान खरीद को लेकर मंडी में की गई व्यवस्थाओं को लेकर भी जानकारी जुटाई। उन्होंने मार्केट कमेटी सचिव सतवीर राविश को निर्देश दिए की मंडी में सभी गेटों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इस पर सचिव ने बताया कि मंडी में कुल दस गेट हैं, छह गेटों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा चुके हैं, चार गेटों पर सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था सोमवार को हो जाएगी। मंडी में धान लेकर आने वाले किसानों को किसी भी तरह की दिक्कत सीजन में नहीं आने दी जाएगी।

तीन गेटों से होगी एंट्री, यहीं मिलेगा गेट पास

निरीक्षण के बाद मार्केटिंग बोर्ड के जोनल अधिकारी गगनदीप सिंह ने बताया कि 22 एकड़ के करीब जगह में नई अनाज मंडी है। इस मंडी के अलावा शहर की पुरानी व अतिरिक्त अनाज मंडी और बाबा लदाना गांव में खरीद केंद्र बनाया गया है। नई अनाज मंडी में दस गेट हैं, लेकिन सभी गेटों पर गेट पास की सुविधा असंभव है। इसलिए मंडी के तीन गेट, इनमें जींद रोड की तरफ से महाराजा अग्रसेन धर्मशाला गेट, एक्सेंज की तरफ वाला गेट और पुलिस चौकी की तरफ वाले गेट पर पोटा कैबिन स्थापित किए जा रहे हैं। इन्हीं तीनों गेटों से किसान अपना धान लेकर मंडी में आए। गेट पास की व्यवस्था भी यहीं पर मिलेगी।

किसानों को गेट पास लेना अनिवार्य

बिना गेट पास के मंडी में एंट्री करने वाले किसानों का धान नहीं खरीदा जाएगा और न ही उक्त किसान को गेट पास मिलेगा। यहां सीसीटीवी कैमरों की निगरानी रहेगी। कैमरे में किसान एंट्री करता हुआ नजर आना चाहिए, जो रिकार्ड में रहेगा। इसके साथ-साथ धान की खरीद करने वाले राइस मिलरों को भी गेट पास इस बारे मिलेगा। पहले एजेंसी गेट पास काटती थी, इस बार मार्केट कमेटी भी आउट गेट पास काटेगी, ताकि मार्केट फीस की चोरी न हो सके। सीसीटीवी कैमरे लगने के बाद धान चोरी की घटनाओं पर भी अंकुश लग पाएगा।

किसानों को मिला तीन हजार प्रति क्विंटल से ज्यादा भाव

रविवार से अनाज मंडी में बोली पर धान की खरीद शुरू हो गई है। 1509 धान के भाव रविवार को तीन हजार पांच रुपये प्रति क्विंटल किसानों को मिले। पिछले साल यह रेट 1800 से 1900 रुपये थे। गांव सीवन निवासी किसान गौवरधन व डोहर निवासी किसान रामपाल ने बताया कि 1509 के भाव इस बार काफी अच्छे मिल रहे हैं। इससे किसानों को प्रति एकड़ 15 हजार से 18 हजार रुपये का फायदा हो रहा है। पीआर धान के भाव 1700 रुपये प्रति क्विंटल है, हालांकि पीआर धान का सरकारी रेट 1960 रुपये प्रति क्विंटल है, लेकिन पीआर धान की सरकारी खरीद एक अक्टूबर से शुरू होनी है। इसी तरह से सरबती धान के भाव भी दो हजार प्रति क्विंटल से ज्यादा मिल रहे हैं। कैथल अनाज मंडी में पिछले साल बासमती किस्म का धान 24 लाख क्विंटल, 1509 धान 50 हजार क्विंटल, पीआर साढ़े 12 हजार क्विंटल आया था। इस बार पीआर धान की 15 लाख क्विंटल आवक होने की उम्मीद है।

वाटर कूलर, सफाई व लाइटिंग की हो व्यवस्था

जोनल अधिकारी गगनदीप सिंह ने कहा कि मंडियों में पीने के पानी, लाइटिंग, शौचालय, सफाई का उचित प्रबंध होना चाहिए। बेसहारा पशुओं के चलते आने वाली दिक्कतों को भी सीजन से पहले दूर किया जाए। मंडी में जाम न लगे इसलिए उठान की भी व्यवस्था हो। किसानों को गेट पास को लेकर किस भी तरह की परेशानी न आए। पिछले साल सीजन में काफी दिक्कत किसानों को आई थी। इसे देखते हुए उचित प्रबंध मंडी में होने चाहिए।

Edited By: Rajesh Kumar