पानीपत/यमुनानगर, जेएनएन।  हत्या के मामले में दोस्त को जेल में बंद था। वहीं देखरेख करने के बहाने युवक ने उसकी पत्नी के बीच अवैध संबंध बना लिए। जब वह जमानत पर बाहर आया तो उसे इसकी भनक लग गई। महिला का पति जब रूकावट बनने लगा तो दोस्त ने ईंटों से कुचलकर उसकी हत्या कर दी। जड़ोदी निवासी संजीव हत्या उसके दोस्त राज मिस्त्री प्रवीण ने की। 

नौ जुलाई को जड़ोदी निवासी संजीव उर्फ संजय का गांव के पास ही शव मिला था। उसके सिर के पीछे चोट का निशान था। पुलिस ने उसके शव का पोस्टमार्टम करवाया। परिजनों की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज किया गया था। इस मामले की जांच डिटेक्टिव स्टाफ को दी गई थी। डिटेक्टिव स्टाफ ने मामले की जांच शुरू की गई, तो उसकी पत्नी के राज मिस्त्री प्रवीण के साथ संबंध होने की बात सामने आई। इसी आधार पर पुलिस ने तफ्तीश बढ़ाई। डीएसपी प्रदीप राणा ने बताया कि संजीव पहले से ही राज मिस्त्री प्रवीण के पास मजदूरी करता था। जिस वजह से उसका घर पर आना जाना था।  हत्या के मामले में संजीव जेल में गया, तो प्रवीण के उसकी पत्नी के साथ संबंध बन गए। जेल से आने के बाद इसका पता संजीव को लग गया था। जिस वजह से वह अक्सर अपनी पत्नी के साथ मारपीट करता था। इस वजह से ही प्रवीण ने संजीव की हत्या कर दी।

पहले पिलाई शराब, फिर गांव के पास ले जाकर मारा 
डिटेक्टिव स्टाफ के इंचार्ज जयपाल आर्य ने बताया कि नौ जुलाई को प्रवीण व संजीव जगाधरी से कार्य खत्म कर लौट रहे थे। गांव के पास ही बाइपास पर उन्होंने शराब पी। प्रवीण उसे मारने की फिराक में ही था, क्योंकि संजीव अपनी पत्नी के साथ प्रवीण के संबंधों को लेकर मारपीट करता था। दोनों ने यहां शराब पी। शराब के नशे में ही संजीव व प्रवीण की कहासुनी हुई, जिस पर उसने ईंट उठाकर उसके सिर पर वार कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। प्रवीण ने सड़क के किनारे ही उसका शव छोड़ दिया, ताकि यह वारदात सड़क हादसा लगे। सुबह होने पर मृतक के चाचा रामलाल ने उसका शव देखकर शिनाख्त की थी। अब आरोपित को रिमांड पर लिया गया है।  उससे हत्या में प्रयोग की गई ईंट व बाइक बरामद की जाएगी। 

जमानत पर चल रहा था मृतक संजीव
4 मई 2014 में गांव जड़ोदा के नजदीक अमित ने रमेश की हत्या कर दी थी। भागते समय अमित को ग्रामीणों ने पकड़ लिया। उसकी जमकर पिटाई की गई थी। जिससे उसकी मौत हो गई। इस मामले में संजीव समेत 11 लोगों पर केस दर्ज हुआ था। पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। एक साल पहले ही वह जमानत पर आया था। पुलिस के मुताबिक, संजीव की पत्नी भी आए दिन की मारपीट से तंग आकर अपने मायके चली गई थी, जिस वजह से ही प्रवीण ने संजीव को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। 

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस