पानीपत/अंबाला, जेएनएन। कोरोना वायरस को लेकर लॉकडाउन की घोषणा होते ही अंबाला शहर हरियाणा-पंजब बॉर्डर पर पुलिस के नाके लगा दिए गए। नाके होने के बावजूद भी पड़ोसी राज्य से लोग पैदल राज्य में प्रवेश कर गए। जबकि लॉकडाउन के दौरान सभी को अपने अपने घर और ठिकाने पर रहने को कहा गया था।

दूसरे राज्यों से बार्डर पार करके अंबाला पहुंच चुके लोगों के रहने और खाने से लेकर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराना राज्य सरकार और प्रशासन का दायित्व है। इसे देखते हुए व्यापाक प्रबंध किए गए हैं। अगर अब बार्डर के किसी भी नाके से कोई पार किया तो वहां तैनात पुलिस मुलाजिम खुद को सस्पेंड समङों। यह बातें बुधवार को गृहमंत्री अनिल विज ने कहीं। वे जिला पंचायत भवन अंबाला शहर में डीसी और एसपी से लेकर अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे।

कहा, कि अगर ठेकेदारों ने अपने यहां काम करने वाले मजदूरों को भोजन कराने का भरोसा दिलाया होता तो आज ये लोग अपने अपने घरों की तरफ रुख नहीं करते। जो लोग यहां आ चुके हैं उन्हें लॉकडाउन तक सुरक्षित रखने की मुकम्मल व्यवस्था कर दी गई है। इसके लिए जिले के अलावा तहसील स्तर पर भी अस्थाई सेंटर बनाए गए हैं, जहां पर ठहरे हुए लोगों को खाने के साथ स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जा रहीं हैं। हाईवे से लेकर बार्डर के सभी मुख्य स्थानों पर पुलिस का नाका है, नाके से कोई भी इस तरह से पार न करने पाए।

सिपाही से लेकर अधिकारी तक डटे, फिर भी अनकंट्रोल

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए लॉकडाउन लगाया गया है, ऐसे में लॉकडाउन का उल्लंघन न हो सिपाही से लेकर अधिकारी तक ड्यूटी पर डटे हैं, बावजूद इसके लॉकडाउन अनकंट्रोल है। वाहन चालक सड़कों से गुजर रहे हैं लेकिन पुलिस की कार्रवाई ठंडे बस्ते है। हालांकि पुलिस इस तरह के लोगों पर कार्रवाई करने का दावा कर रही है परंतु हकीकत कुछ और ही बयां कर रही। रोजाना ट्विन सिटी की सड़कों पर वाहन घूमते हुए दिखाई दे रहे हैं जबकि पुलिस केवल कुछ ही वाहनों पर कार्रवाई कर अपनी पीठ थपथपा रही है।

पुलिस की तरफ से यह की गई व्यवस्था

लॉकडाउन के चलते जिले भर में 40 नाके लगाए हुए हैं, 30 पीसीआर लगाई गई है जिनके साथ इंस्पेक्टर या सब इंस्पेक्टर व दो से तीन कर्मचारी लगाए गए हैं। इसके अलावा पुलिस सड़कों व गलियों में गस्त के साथ-साथ अनाउंसमेंट भी कर रही है जिसमें लोगों को घर से बाहर ना आने के लिए कहा जा रहा है तथा दूसरों को भी इसके बारे में जागरूक करने के लिए बोला गया है।

पुलिस लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। वाहनों का चालान किया जा रहा है इसके अलावा वाहनों को जब्त भी किया जा रहा है इसके अलावा शरारती तत्वों पर नजर रखने के लिए कर्मचारियों को सिविल ड्रेस में उतारा है।

-मुनीष, डीएसपी, ट्रैफिक विंग।

शरारती तत्वों पर रखी जा रही है नजर

लॉकडाउन के चलते अफवाह व गड़बड़ी करने वाले शरारती तत्वों पर भी नजर रखी जा रही है। इस दौरान पुलिस ने अपने 24 ऐसे कर्मचारियों को सिविल ड्रेस में उतारा गया है जो लोगों पर नजर रखे हुए हैं।

 

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस