पानीपत, जेएनएन। जालंधर यूनिवर्सिटी की कैंटीन में साढ़े तीन करोड़ की हेरोइन की तस्करी का मामला सामने आया है। पानीपत में पकड़ी गई महिला तस्कर ने इसका पर्दाफाश किया है। नाइजीरिया के डेविड ने सप्लाई कैंटीन में टोनी को देने के लिए कहा था। इसके लिए उसको एक लाख रुपये दिए जाने थे। महिला तस्‍कर ने बताया कि टोनी यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों को नशा सप्लाई करता है।

महिला तस्कर परविंद्र ने बताया कि डेविड ने टोनी का फोन नंबर तक नहीं दिया था। डेविड ने टोनी को मैसेज कर रखा था। सीआइए-1 ने परविंद्र को अदालत में पेश किया, जहां से उसे दो दिन के रिमांड पर भेज दिया गया।

डेविड का नहीं बताया ठिकाना
सीआइए-1 संदीप छिक्कारा ने बताया कि परविंद्र कौर डेविड का ठिकाना नहीं बता रही है। सीआइए-1 ने मंगलवार शाम को बस स्टैंड के पास से पंजाब के जिला जालंधर के शाहपुर गांव की परविंद्र को 670 ग्राम हेरोइन सहित गिरफ्तार किया था।

सात महीने पहले भी हेरोइन सप्लाई कर चुकी है परिवंद्र
परविंद्र ने पुलिस को बताया कि वह पति प्रिंसके साथ दिल्ली के उत्तम नगर में किराये पर रहती है। सितंबर 2018 में उत्तम नगर के टी प्वाइंट पर नाइजीरिया के डेविड से मुलाकात हुई थी। डेविड ने उसे झांसा दिया था कि वह हेरोइन की सप्लाई करेगी तो कुछ ही दिनों में उसे लखपति बना देगा। सात महीने पहले डेविड से हेरोइन लेकर वह जालंधर में टोनी को सप्लाई कर चुकी है। तब उसे एक लाख रुपये मिले थे।

12 ज्यादा महिलाएं व युवतियां करती हैं तस्करी
नशा तस्करी के धंधे से 12 से ज्यादा महिलाएं और युवतियां जुड़ी हैं। दिल्ली के उत्तम नगर, मोहन नगर, मालवीय नगर, विकासपुरी और तिलक नगर में डेविड व उसके दोस्त इन्हें हेरोइन की खेप देकर पंजाब में सप्लाई करने भेजते हैं।

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस