करनाल, जागरण संवाददाता। Haryana Monsoon Update: हरियाणा के आसपास के राज्‍यों में भारी बारिश हो रही है। मौसम विज्ञानियों ने भी हरियाणा में बारिश की संभावना जताई है। अनुमान है कि हरियाणा में मानसून की विदाई में 10 दिन की देरी संभव मानी जा रही है। वहीं चार दिन अभी कुछ जिलों में भारी बारिश हो सकती है।

मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो मौसम में आए हालिया बदलाव और मानसून का देरी से आगमन इसकी अवधि बढ़ा रहा है। मौसम वैज्ञानिकों ने 16 सितंबर को दोबारा मानसून सक्रिय होने की संभावना व्यक्त की थी, जिसके मुताबिक मौसम में बदलाव भी हुआ और बरसात का सिलसिला शुरू हो गया। यह सिलिसला 20 सितंबर तक जारी रहने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक मौसम में हाल ही में आए बदलाव के कारण इस साल मानसून देरी से जाएगा। जिस साल मानसून देरी से आता है उस वर्ष उसकी विदाई भी देरी से होती है। इस साल समय से पहले तो दस्तक दे दी थी, लेकिन उसकी सक्रियता देरी से हुई थी। हरियाणा सहित पूरे उत्तर भारत में 20 सितंबर तक बरसात होने की संभावना बनी हुई हैं। इससे मानसून की सक्रियता सितंबर आखिरी सप्ताह तक रहने की संभावना है।

साल 2021 में औसत से कम बरसात दर्ज, लेकिन हरियाणा में 21 फीसद ज्यादा

मौसम वैज्ञानिक ने बताया है कि साल तराई में औसत से 30 प्रतिशत कम बरसात दर्ज की गई है। जून की औसत बारिश 190.7 मिमी है जबकि इस साल 132 मिमी बारिश रिकार्ड हुई। इसी तरह जुलाई की औसत बरसात 440.6 मिमी है। लेकिन इस साल 239.8 मिमी बरसात हुई। अगस्त में भी 452.7 मिमी औसत बरसात हुई, लेकिन इस साल 299.7 मिमी बरसात दर्ज की गई। हालांकि हरियाणा में मानसून काफी मेहरबान रहा है। प्रदेश में अब तक 506.6 एमएम बरसात दर्ज की गई है जो सामान्य से 21 फीसद अधिक है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक इस साल मानूसन 10 दिन देरी से 26 सितंबर तक विदा होने की संभावना है।

Edited By: Anurag Shukla