पानीपत, जागरण संवाददाता। Bharat Bandh Update Panipat: संयुक्त किसान मोर्चे की तरफ से भारत बंद के आह्वान के कारण रोडवेज ने एक भी बस अपने बेड़े से रवाना नहीं की। एक बस चंडीगढ़ के लिए रवाना हुई थी, जो पीपली से लौट आई। उधर, ट्रेनों का भी चक्का जाम रहा। शाम चार बजे तक ऐसे ही हालात रहने के आसार हैं। जीटी रोड लगभग सुनसानही दिखाई दिया। आम लोग इस भारत बंद के कारण बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। किसी को बस से जाना था तो किसी को ट्रेन से निकलना था। सड़क बंद थी। इस वजह से लोगों ने कच्चे रास्तों का सहारा लिया।

भारत बंद से जुड़ी ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बसें अंदर ही रहीं

रोडवेज सर्विस पूरी तरह से प्रभावित रही। रास्ते बंद मिले जिसके कारण बसें आगे नहीं जा सकी। इसके बाद सुबह साढ़े छह बजे जीएम ने रोडवेज बसों को बंद करने के निर्देश जारी किए।

जीटी रोड रहा सुनसान

आम दिनों के मुकाबले सोमवार को जीटी रोड सुनसान नजर आया। दो दिन छुट्टी के बाद खुले सरकारी कार्यालय और इससे जीटी रोड पर सबसे ज्यादा जाम की स्थिति बनी रहती थी। लेकिन भारत बंद के चलते जीटी रोड सुनसान नजर आया।

जिला बार एसोसिएशन ने किया वर्क सस्पेंड

जिला बार एसोसिएशन ने भी भारत बंद को समर्थन दे दिया है। सोमवार को वकीलों ने वर्क सस्पेंड कर भारत बंद में शामिल होने पुष्टि की। इस दौरान कामकाज पूरी तरह से प्रभावित रहा।

बाजार खुले, ग्राहक कम

भारत बंद का शहर के बाजारों पर असर नहीं दिखाई दिया। बाजार सुबह से ही खुले। लेकिन ग्राहक नदारद रहे। दरअसल लोगों को लगा था कि बाजार भी बंद रहेंगे। इसलिए कम ही लोग बाजार के लिए निकले।

भालसी चौक पर रास्ता रोका

किसानों ने असंध रोड पर मतलौडा और भालसी चौक पर रास्ता रोक दिया। सड़क पर ही हुक्का गुड़गुड़ाया। किसी वाहन को आगे नहीं जाने दिया गया। केवल इमरजेंसी के वाहन ही निकाले गए। एंबुलेंस जैसे वाहनों को नहीं रोका गया। मतलौडा बाजार की सभी को दुकानों को बंद करा दिया।

जीटी रोड पर ठेका बंद कराया

जीटी रोड पर किसानों ने शराब का ठेका बंद करा दिया। ठेकेदार हाथ जोड़कर खड़ा रहा। उसने कहा कि बंद न कराओ। पर किसानों ने कहा कि चार बजे तक ठेका बंद कर दो। किसानों के हाथ जोड़ने पर ठेकेदार ने शटर नीचे गिरा दिया। ठेका बंद कर दिया।

 

Edited By: Anurag Shukla