करनाल, जागरण संवाददता। Rajya Sabha Polls 2022: चंडीगढ़ से लौटते समय नवनिर्वाचित राज्यसभा सदस्य कृष्ण लाल पंवार कुछ देर कर्ण लेक पर रुके। इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव में कुलदीप बिश्नोई ने कांग्रेस का गणित बिगाड़ दिया। आपसी लड़ाई और फूट का खामियाजा कांग्रेस को उठाना पड़ा। जबकि भाजपा ने मजबूत संगठन और कुशल रणनीति की बदौलत शानदार जीत दर्ज की।

उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस में दम होता तो रणदीप सुरजेवाला को राजस्थान न भेजकर हरियाणा से चुनाव लड़ाते। पता चल जाता कि दाने किस भाव बिकते हैं। राज्यसभा चुनाव में पैसे के लेन-देन के आरोप को सिरे से नकारते हुए पंवार ने कहा कि उनकी तो सिक्योरिटी तक पार्टी ने ही जमा कराई।

कांग्रेस अपने अंजाम के लिए खुद जिम्‍मेदार

अपने संक्षिप्त करनाल प्रवास के दौरान पंवार ने संवाददाताओं से वार्ता में कहा कि जीत के लिए वह पार्टी आलाकमान से लेकर तमाम कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त करते हैं। अनुसूचित जाति को यह सम्मान देने से अंत्योदय की भावना को बल मिला है। कांग्रेस अपने अंजाम के लिए खुद जिम्मेदार है क्योंकि वहां कोई संगठन नहीं है और सब आपस में लड़ते रहते हैं। राज्यसभा चुनाव में भाजपा के पूरे वोट पड़े जबकि कांग्रेस का एक क्रास वोट हुआ। कुलदीप बिश्नोई ने अपनी अंतरात्मा की आवाज पर आजाद उम्मीदवार को वोट दिया। प्रधानमंत्री ने भी अपील की थी कि अंतरात्मा की आवाज जरूर सुनें। यदि कुलदीप पार्टी में आते हैं तो उन्हें उचित सम्मान मिलेगा।

कांग्रेस ताकत खो चुकी है

पंवार ने कहा कि कांग्रेस ताकत खो चुकी है। यदि इस पार्टी में कोई दम होता तो रणदीप सुरजेवाला को राजस्थान भेजने की जरूरत नहीं पड़ती। यह ऐसी पार्टी है, जो सीएम तक के दावेदार तो तैयार कर लेती है लेकिन रिजल्ट जीरो ही रहता है। भाजपा के पास 18 करोड़ कार्यकर्ताओं का बड़ा नेटवर्क है। हर कार्यकर्ता को उचित सम्मान मिलता है। वह खुद इसका प्रमाण हैं। राज्यसभा चुनाव में पैसे का लेन-देन होने के आरोप सिरे से नकारते हुए पंवार ने कहा कि उनकी तो सिक्योरिटी तक पार्टी ने ही जमा कराई। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष योगेंद्र राणा और अन्य नेता मौजूद रहे।

Edited By: Anurag Shukla