पानीपत, जागरण संवाददाता। प्रदेश के राजकीय व प्राइवेट स्कूल तंबाकू मुक्त होंगे। जहां न तो स्टाफ तंबाकू, गुटखा व धूम्रपान कर सकेगा और न ही बाहर से आने वाले लोगों को करने दिया जाएगा। इसके साथ स्कूल के आसपास भी तम्बाकू उत्पादों की बिक्री नहीं होगी। तंबाकू मुक्त विद्यालय परिसर बनाने को लेकर स्कूल शिक्षा निदेशालय की ओर से प्रदेश के सभी जिला शिक्षा व जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिख 30 सितंबर तक का समय दिया गया है।

निदेशक माध्यमिक शिक्षा हरियाणा, पंचकूला के पत्र के मुताबिक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, भारत सरकार के सचिव राजेश भूषण के अर्ध सरकारी पत्र 31 अगस्त 2021 व शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के स्कूल शिक्षा विभाग की सचिव अनीता करवाल व महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा के पत्र 10 सितंबर 2021 की अनुपालना में राज्य के शिक्षण संस्थानों को तंबाकू मुक्त बनाने के लिए एक अभियान चलाया जाना है। इसमें स्कूल मुखिया द्वारा संस्थान का स्वमूल्यांकन करते हुए कार्रवाई करनी है।

बीईओ को देना होगा प्रमाणपत्र

स्कूल परिसर में किसी के द्वारा भी तंबाकू का किसी भी रूप में प्रयोग न हो, इसे संभव बनाना है। इसके लिए समुचित कार्रवाई करते हुए परिसर को तंबाकू मुक्त परिसर के रूप में घोषित करना है। निदेशालय के मुताबिक इसका प्रमाण पत्र भी खंड शिक्षा अधिकारी को उपलब्ध कराना होगा। उक्त अधिकारी अपने अधीनस्थ सभी स्कूलों से तंबाकू मुक्त विद्यालय होने का प्रमाण पत्र लेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे की उनके खंड के सभी राजकीय व प्राइवेट स्कूल तंबाकू मुक्त हों। इसके लिए निदेशालय ने 30 सितंबर तक का समय निर्धारित किया है। इसके लिए गूगल फार्म भी बनवाया गया है। उसी पर स्कूल के तंबाकू मुक्त होने संबंधित जानकारी अपडेट करनी होगी।

तंबाकू मुक्त बनाएंगे स्कूल

जिला शिक्षा अधिकारी रमेश कुमार का कहना है कि निदेशालय की तरफ से स्कूल तंबाकू मुक्त बनाने को लेकर सभी बीईओ को अवगत करा दिया गया है। ताकि उस पर सख्ती से अमल हो सके। उन्होंने कहा कि उक्त अभियान से काफी अच्छा है।

Edited By: Anurag Shukla