अंबाला, जागरण संवाददाता। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को अंबाला शहर के पुलिस लाइन ग्राउंड में गणतंत्र दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण किया। इसके बाद उन्होंने रामधारी सिंह दिनकर की पंक्तियों जिनकी चढ़ती हुई जवानी खोज रही अपनी क़ुर्बानी, जलन एक जिनकी अभिलाषा, मरण एक जिनका त्योहार नमन उन्हें मेरा शत बार। बोलकर अंबाला की भूमि को नमन किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मेरे लिए गर्व व गौरव का विषय है कि अंबाला की उस भूमि पर मैंने ध्वजारोहण किया जहां से स्वतंत्रता संग्राम की चिंगारी सुलगी। इसीलिए अंबाला में प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों की याद में विशाल शहीदी स्मारक बनाया जा रहा है। उन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले ज्ञात व अज्ञात वीरों को नमन किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं भारत के संविधान निर्माता बाबा साहिब भीमराम आंबडेकर को भी नमन करता हूं। जिन्होंने शब्दों में ही भारत का संविधान शब्दों में ही नहीं बल्कि लोगों की सोच में भी लिखा। गणतंत्र हमारी सोच में ही नहीं हमारे खून में भी है। गणतंत्र वो है जिसे जनता महसूस कर सके, इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबका साथ, सबका विश्वास और सबके साथ की तर्ज पर पूरे राष्ट्र के लिए काम किया है।

सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार ने 345 वीरों के आश्रितों को सरकारी नौकरी भी देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि आजादी के 75वें अमृत महोत्सव तक स्वतंत्रता सैनानियों के परिवारों को इसी तरह सम्मानित करने का काम किया जाएगा। सीएम ने कहा कि प्रदेश में 17 नए राष्ट्रीय राजमार्ग बन रहे हैं इनके बनते ही हर जिला राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़ जाएगा। सीएम ने कहा कि हर जिले में मेडिकल कालेज बनाने का भी सरकार का लक्ष्य है। बेटियों के लिए हर 20 किलोमीटर की दूरी पर कालेज स्थापित किए गए हैं। उद्योगों के लिए क्लस्टर स्थापित किए जा रहे हैं। इस दौरान सीएम ने कहा की 75वें गणतंत्र दिवस तक पूरे प्रदेश को बेरोजगार मुक्त करना सरकार का लक्ष्य है।

कोरोना वीरों को भी किया नमन

सीएम ने इस दौरान कहा कि यह 73वां गणतंत्र दिवस हम कोविड की तीसरी लहर के बीच मना रहे हैं। इसके लिए कोविड वीरों ने बहुत सराहनीय कार्य किए हैं जिन्हें मैं नमन करता हूं। उन्होंने लोगों से आह्वान करते हुए कहा कि जिन्होंने पहली डोज ले ली है वह दूसरा टीका भी लगवाएं।

871के मुकाबले 914 हुआ लिंगानुपात

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जब हरियाणा की भूमि से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा दिया तब प्रदेश में लिंगानुपात 871 था जोकि अब 914 हो गया है। महिलाओं के स्वास्थ्य, सुरक्षा और सशक्तीकरण पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है। बस अड्डे व बसों में सीसीटीवी लगाए जा रहे हैं।

Edited By: Anurag Shukla