पानीपत, जेएनएन। अमर भवन चौक के हैंडलूम कारोबारी रितम सोनी के डेबिट कार्ड का क्लोन तैयार कर ठग ने 10 हजार रुपये निकाल लिए। ट्रांजेक्शन मैसेज देखते ही कारोबारी ने कार्ड ब्लॉक करा दिया।  मामले की शिकायत को लेकर बैंक गया तो कर्मचारियों ने थाने से एफआइआर कॉपी लाने की बात कही। सिटी थाने के अधिकारियों ने बैंक स्टेटमेंट निकलवा कर लाने की बात कह कर उसे वापस भेज दिया। परेशान कारोबारी ने सीएम विंडो पर शिकायत दी तो पुलिस ने एक माह बाद केस दर्ज किया।

कारोबारी रितम सोनी ने बताया कि उसकी अमर भवन चौक पर तांजिल क्रियेशन के नाम से दुकान है। बीते 15 सितंबर को वह संजय चौक स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के एटीएम में कैश निकलवाने गया था। 15 हजार रुपये की ट्रांजेक्शन करते ही एटीएम में बैठे एक युवक ने उसे दूसरे एटीएम से ट्रांजेक्शन करने के लिए कहा। वो एटीएम खराब होने की बात कह रुपये फंसने का दावा करने लगा। दूसरी ट्रांजेक्शन किए बिना ही रितम दुकान पर वापस लौट गया। कुछ देर बाद उसके फोन पर 10 हजार रुपये की ट्रांजेक्शन का मैसेज आया तो वह ठग की एटीएम कार्ड क्लोङ्क्षनग किए जाने की चाल समझ गया, तुरंत एटीएम कार्ड ब्लॉक करा दिया।

बैंक स्टेटमेंट के बिना ठगी का पता लगाना मुश्किल होता है। इसी कारण सदर थाना के पुलिसकर्मियों ने कारोबारी को बैंक स्टेटमेंट निकलवाने के लिए भेजा दिया होगा। फिलहाल केस दर्ज कर आरोपित की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। जल्द ही आरोपित को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मोहन लाल सिटी थाना प्रभारी 

ऑल्टो बेचने के नाम पर की 35 हजार की ठगी

वैसर गांव के राहुल ने बताया कि कर्ण सिंह के नाम से एक व्यक्ति ने ओएलएक्स पर आल्टो कार बेचने की एड पोस्ट कर रखी है। उसने पोस्ट देखने के बाद कर्ण सिंह से संपर्क किया तो उनका 60 हजार रुपये में सौदा तय हो गया। कर्ण सिंह ने खुद को आर्मी का अधिकारी बताया, किसी दूसरे राज्य में पोस्टिंग होने के कारण औने-पौने दामों में आल्टो बेचने की बात कही। आधी पेमेंट मिलते ही गाड़ी भेजने का दावा किया। ठग के झांसे में आकर उसने 35 हजार रुपये उसके खाते और पेटीएम नंबर में ट्रांसफर कर दिए। लेकिन अब आरोपित ने उसे गाड़ी देने या पेमेंट लौटाने से इंकार कर दिया। सिटी थाना पुलिस ने अज्ञात आरोपित के खिलाफ केस दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है।

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप