पानीपत/करनाल, जेएनएन। पढ़ाई के लिए भाई-बहन को कनाडा भेजने की आड़ में गांव बुढऩपुर वीरान के सरपंच से सात लाख रुपये ठगने का मामला सामने आया है। पुलिस ने तीन आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

सरपंच गुरनाम सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि वह अपने पौत्र गुरनुर व पौत्री नवरीत कौर को पढऩे के लिए कनाडा भेजाना चाहता था। इसके लिए वह सेक्टर 12 स्थित एक केंद्र पर पहुंचा। इसका संचालक पढ़ाई के लिए युवक-युवतियों को विदेश भेजने का काम करता है। यहां उसे एक महिला व पुरुष कर्मी मिले, जिन्होंने अपना नाम भी बदलकर बताया। 

उन्होंने उसकी मुलाकात जिरकपुर, पंजाब वासी केंद्र संचालक से भी कराई और उसे उसके पौत्र व पौत्री को कनाडा भेजने का भरोसा दिया। उन्होंने पहले उससे प्रोसेसिंग फीस के तौर पर 40 हजार रुपये लिए तो उसे 10 दिन में ही एडमिशन ऑफर लेटर आ जाने के बाद सूचित करने को कहा। इसके बाद उससे अलग-अलग समय पर कुल सात लाख रुपये ले लिए तो 30 दिन के दौरान ही दोनों को कनाडा भेज देने का भरोसा दिया। लेकिन आरोपित उन्हें नहीं भेज सके। इंतजार के बाद वह केंद्र पर पहुंचा तो वहां कोई जवाब भी नहीं दिया गया। आरोपितों ने उसके साथ धोखाधड़ी की है। 

16 अन्य लोगों को भी ठगी का शिकार बनाने का आरोप

सरपंच ने शिकायत में आरोप लगाए है कि आरोपितों ने न केवल उसके साथ सात लाख रुपये की धोखाधड़ी की है, बल्कि 16 अन्य युवक-युवतियों को भी जाल में फंसाया है। इनमें अजय राणा, रोमा, शिव कुमार, शिव कुमार, नफे सिंह, सुनील कुमार, दलबीर सिंह, अरविंद, सुदीप, चरणजीत, जितेंद्र, गुरदयाल, नरेंद्र, सतीश कौशिक, मनोज गौतम व सुरजीत शामिल हैं।

मामले की कर रहे जांच 

पुलिस अधिकारी धर्मपाल सिंह का कहना है कि यह मामला अभी एक शिकायत के आधार ही दर्ज किया है, लेकिन अन्य युवकों के साथ धोखाधड़ी हुई है या नहीं यह सब जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप