जागरण संवाददाता, यमुनानगर : अपने दो साथियों के साथ मिलकर ज्वेलर संजीव खन्ना की हत्या करने वाले योगेश सूरी ने पिछले चार सालों से खुद को पूरी तरह से बदल लिया था। उसका उठना बैठना हाई प्रोफाइल लोगों के साथ हो गया था। इसलिए खर्चे भी बढ़ गए थे। ये सारे खर्चे उसने संजीव खन्ना से लिए 13 किलो सोना व 30 लाख रुपये से पूरे किए।

पुलिस के मुताबिक रेलवे स्टेशन रोड पर पेपर मिल गेट के पास श्री न्यू यमुना ज्वेलर के मालिक संजीव खन्ना की हत्या साक्षी ज्वेलर के मालिक योगेश ने अपने दो साथियों ग्लैडविन उर्फ शंटी व रोहित के साथ मिलकर की थी। हत्या के बाद शव को शहजादपुर के रजपुरा के खेतों में फेंक दिया था। पूछताछ में राज खुला कि योगेश को संजीव खन्ना का 13 किलो सोना व ब्याज पर लिए 30 लाख रुपये वापस करने थे। इसलिए उसने संजीव खन्ना को मारा।

संजीव खन्ना को जब योगेश की फिजूलखर्ची का पता चला तो वह अपने पैसे वापस मांगने लगे। योगेश दो साल से संजीव से सोना उधार ले रहा था। फिर इसे बाजार में अन्य ज्वेलरों को सप्लाई कर देता था। योगेश ने संजीव से लेकर अन्य ज्वेलरों को जो सोना दिया था उसकी पेमेंट उसे समय पर नहीं मिल रही थी। दूसरा योगेश के खर्चे बढ़ते जा रहे थे। पहले उसने होंडा सिटी कार ली और अब छह माह पहले ओडी कार खरीदी थी। इसी दौरान योगेश ने हुडा सेक्टर-15 में कोठी खरीदने के लिए करीब डेढ़ करोड़ रुपये का बयाना दिया था। ओडी कार खरीदने के बाद से ही संजीव खन्ना ने उस पर अपनी पेमेंट जल्द करने का दबाव बनाया था। संजीव ने उससे कहा था कि उसके पैसे देने में वह आनाकानी कर रहा है जबकि अपनी कार व कोठी के लिए उसके पास पैसे हैं।

चार दिन के रिमांड पर लिया है : ओम प्रकाश

एसएचओ ओम प्रकाश का कहना है कि योगेश सूरी, ग्लैडविन उर्फ शंटी व रोहित को कोर्ट से चार दिन के रिमांड पर लिया गया है। उनसे हत्या में इस्तेमाल हथौड़ा व लोहे की तार बरामद करनी है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप