पानीपत/अंबाला, जेएनएन। सेना की पालमपुर 36 मोटर डिविजन में सिविल इंजीनियर तैनात नायक अमरजीत निवासी नारायणगढ़ से बदमाशों ने गन प्वाइंट पर बंधक बनाकर मारपीट की। सिविल इंजीनियर के पास जो भी कुछ था, उससे छीन लिया और गोली मारने की धमकी दी। कर्मी ने हाथ पैर जोड़ तो बदमाशों ने उसके सिर पर किसी भारी चीज से वार किया और उसे सड़क किनारे खेत में फेंक दिया। 

बदमाश कार लेकर फरार हो गए। होश में आने के बाद सेना का यह जवान पास के गांव गधौली यमुनानगर पहुंचा और लोगों से मदद मांगी। घायल को ग्रामीण नागरिक अस्पताल नारायणगढ़ लेकर आए, जहां उनका उपचार किया गया। घटना उस वक्त घटी जब जवान की कार को एक अन्य कार चालक ने टक्कर मार दी थी। मामला सुलझ गया था कि तभी यह बदमाश आए और सेना के जवान को उसी की कार में किडनैप कर ले गए। घटना शनिवार देर रात की है। 

यह है मामला 

सेना में गैरिजन इंजीनियर पालमपुर (हिमाचल प्रदेश) 36 मोटर डिविजन में बतौर इंजीनियर तैनात अमरजीत सिंह दो दिन की छुट्टी लेकर अपने घर नारायणगढ़ आया था। वह कार से अपनी ससुराल छछरौली यमुनानगर गया था और वापस लौट रहा था। गांव सैन माजरा के पास उसकी कार को किसी ने पीछे से टक्कर मार दी। इस पर उसने अपनी कार साइड में रोकी और कार से उतर आया। जिसने टक्कर मारी थी वह भी अपनी कार से उतर आया। उसने माफी मांग ली, जिस पर मामला सुलझ गया। अभी अमरजीत अपनी कार की ओर बढ़ा ही था कि इसी दौरान दो गाडिय़ां आकर रुकी, जिनमें से चार लोग उतरे। इन लोगों के हाथों में डंडे, ङ्क्षबडे थे, जबकि एक के हाथ में मैगजीन वाली गन थी। इन सभी ने उसे पीटना शुरू कर दिया। 

जवान की कार में कर लिया किडनैप 

इन बदमाशों ने गन प्वाइंट पर अमरजीत को उसी की कार में जबरन बिठा लिया। जिस गाड़ी ने उसकी कार में टक्कर मारी थी, वह कार चलाने लगा, जबकि अन्य कार में ही उसके साथ मारपीट करने लगे। यह लोग उसे उसी की गाड़ी में लेकर सुनसान इलाके में ले गए। यहां पर उसके साथ बुरी तरह से मारपीट की गई। 

गोली मार दो इसे, हाथ जोड़कर बचाई जान 

यह बदमाश गन प्वाइंट पर इन बदमाशों ने सेना के जवान को बुरी तरह से पीटा। सुनसान इलाके में कार को रोका और अमरजीत को नीचे उतारा। यहां पर इन बदमाशों ने अमरजीत को गोली मारने को कहा। इस पर उसने काफी मिन्नतें की, जिसके बाद एक बदमाश ने उसके सिर पर जोरदार प्रहार किया। वह बेहोश होकर गिर गया। काफी देर बाद उसे होश आया, लेकिन यह बदमाश उसकी कार लेकर फरार हो चुके थे। वह साथ लगते गांव में पहुंचा और ग्रामीणों से मदद मांगी। ग्रामीणों ने उसे नागरिक अस्पताल नारायणगढ़ पहुंचाया, जहां उसका उपचार किया गया। अमरजीत ने बताया कि कार में उसके तीन मोबाइल फोन व जरूरी कागजात भी थे। 

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस