करनाल, जागरण संवाददाता। एक सप्ताह पहले घरौंडा में करेटा कार सवार मालिक व चालक के साथ मारपीट कर करीब 74 हजार की नकदी व मोबाइल छीनने की वारदात बदमाशों ने जिस एक्सयूवी कार में सवार होकर की थी। वह पांच दिन पहले ही पंजाब के बदद़ी रोड पर एक राहगीर से छीनी थी। इनका इरादा करेटा कार छीनने का था, लेकिन इसमें वे कामयाब नहीं हो सके, लेकिन नकदी व मोबाइल छीन ले गए थे। सीआइए वन टीम ने चारों आरोपितों को गिरफ्तार किया तो यह राज खुला।

11 जनवरी को  विश्वनाथ वासी प्रोफेसर कालोनी कुरुक्षेत्र अपनी करेटा कार में सवार होकर दिल्ली से घर लौट रहे थे। जैसे ही अल सुबह करीब दो बजे वे घरौंडा पहुंचे तो अचानक ही ओवरब्रिज पर पीछे से उनकी गाड़ी को एक्सयूवी गाड़ी की टक्कर मार दी गई। उनके चालक सुनील ने कार रोकी तो आरोपितों ने अपनी गाड़ी आगे खड़ी कर दी थी ओर उनके साथ मारपीट की। चालक सुनील की सुझबूझ के चलते वे करेटा कार छीनने में तो कामयाब नहीं रहे थे, लेकिन लोहे की राड से हमला कर कार के शीशे तोड़ दिए थे तो वहीं मालिक विश्वनाथ से वे नकदी व मोबाइल छीन ले गए थे। पुलिस को बताने पर जाते समय जान से मारने की धमकी भी दे गए और एक आरोपित ने कुख्यात गैंग का भी नाम लिया।

मामला दर्ज जांच शुरू

शिकायत मिलने पर पुलिस ने वारदात के संबंध में मामला दर्ज कर लिया था, जिसकी जांच सीआइए वन कर रही थी। सीआइए इंचार्ज दीपेंद्र राणा ने बताया कि पकड़े गए आरोपितों में गुरमेल उर्फ अमन वासी कटीवाला जिला सोलन, हिमाचल प्रदेश, अब्दुल वासी टिब्बी बक्शीवाला जिला पंचकुला, तरूण उर्फ रिंकू वासी असंध व रवि कुमार वासी ब्राहम्णी वाला जिला कैथल शामिल है, जिन्हें सेक्टर 4 के एरिया से एक्सयूवी गाड़ी सहित गिरफ्तार किया गया है। जिला प्रशासन द्वारा हाल ही में स्थापित किए गए इंटेग्रेडिट कमांड कंट्रोल सेंटर की सहायता से ही आरोपितों तक पहुंचा जा सका है। जांच में पता चला है कि आरोपित गुरमेल उर्फ अमन व अब्दुल ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर आठ जनवरी रात को बद्दी रोड पंजाब से यह गाड़ी छीनी थी।

करनाल में बनाई लूट की योजना

गाडी छीनकर गुरमेल उर्फ अमन व अब्दुल करनाल में अपने साथी रवि कुमार, तरूण के पास आ आए गए। यहां उन्होंने पार्टी भी की तो इस समय रवि व तरूण का एक अन्य साथी भी शामिल था। इसी दौरान आरोपितों ने एक जगह पर इकट्ठा होकर घरौंडा में लूट को अंजाम देने की योजना बनाई। उन्होंने माना कि वे करेटा गाड़ी छीनने की मंशा से आए थे। लेकिन ड्राइवर की सूझबूझ के कारण इसमें कामयाब नहीं हो पाए। आरोपितों को दो दिन के रिमांड पर लिया गया है, जिस दौरान और भी गहनता से पूछताछ की जाएगी।

Edited By: Rajesh Kumar