Move to Jagran APP

हवा से भड़क उठी चिंगारी, देखते ही देखते करोड़ों खाक, जल गए यूरोप निर्यात के अरमान

एक्सपोर्ट हाउस आनंद इंटरनेशनल में भीषण आग। करोड़ों रुपये की मशीनरी व तैयार माल जला दमकल विभाग की कमजोरी के कारण समय पर काबू नहीं पाया जा सका। होली के कारण उद्योग में था अवकाश ।

By Ravi DhawanEdited By: Published: Sat, 23 Mar 2019 12:22 PM (IST)Updated: Sat, 23 Mar 2019 12:23 PM (IST)
हवा से भड़क उठी चिंगारी, देखते ही देखते करोड़ों खाक, जल गए यूरोप निर्यात के अरमान

पानीपत, जेएनएन। आनंद इंटरनेशनल फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। इससे जहां करोड़ों की मशीन और सामान जल गया, वहीं 21 हजार वर्ग गज में बना तीन मंजिला भवन भी खाक हो गया। 12 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद 100 से अधिक दमकल की गाडिय़ों से आग बुझाई जा सकी। आग लगने का कारण शॉर्ट-सर्किट माना जा रहा है। उधर, उद्यमियों ने दमकल गाडिय़ों के समय पर न पहुंचने पर रोष जताया है।

loksabha election banner

वर्कशॉप के एक सिरे में मौजूद श्रमिकों ने आग को सबसे पहले देखा। तेज हवा के कारण कुछ ही देर में आग विकराल हो गई। अग्निशमन दस्ता, एसपी सुमित कुमार, एसडीएम और निगम कमिश्नर वीना हुड्डा मौके पर पहुंचे। एसपी ने अन्य जिलों और रिफाइनरी से अग्निशमन गाडिय़ां मंगवाई। रात दो बजे के बाद हर सात-आठ मिनट में गाडिय़ां पहुंची।

तीन साल पहले भी लगी थी आग
इसी उद्योग में 2016 में भी आग लगी थी। एक श्रमिक की मौत हो गई थी। एडमिनिस्ट्रेटर ब्लॉक भी आग की चपेट में आया था। वर्ष 2014 में आनंद इंटरनेशनल ग्रुप की सेक्टर 29 पार्ट 2 में स्थित उद्योग में बॉयलर फटने से हादसा हुआ था। जिसमें दो श्रमिकों की मौत हो गई थी। आनंद इंटरनेशनल में फ्लालैन, नेपकिन, मिंक कंबल तैयार होता है। इस उद्योग में बनने वाले माल निर्यात के साथ-साथ घरेलू मार्केट में भी सप्लाई होता है।

पुराने हादसों से नहीं उभरे थे
आनंद इंटरनेशनल ग्रुप के 11 उद्योग हैं। 2014 और 2016 में आगजनी की घटनाओं से अभी समूह उबर नहीं पाया था। उद्यमी सुरेश गर्ग ने बताया कि अब मामला पटरी पर आना शुरू हो गया था। अब फिर यह हादसा हो गया।

होली के कारण माल नहीं उठा
पांच छह दिनों में तैयार किया गया  माल कंपनी में ही रखा था। होली के चलते यह उठाया नहीं जा सका था। 25 से 30 करोड़ का नुकसान होने की अनुमान है। 20 लाख का तैयार माल भी इमारत में रखा था।

एसपी के पहुंचने के बाद आग बुझाने में तेजी
मौके पर मौजूद उद्यमियों ने बताया कि एसपी के आने के बाद दमकल विभाग ज्यादा सक्रिय हुआ। सूचना मिलने के दो घंटे बाद अन्य जिलों से गाडिय़ां आ जाती तो नुकसान कम होता। नगर निगम की आयुक्त एसडीएम वीना हुड्डा मौके पर चार घंटे तक मौजूद रहीं। डीसी सुमेधा कटारिया ऑनलाइन पल-पल की खबर लेती रहीं।

एफएसएल की टीम जांच करेगी : एसपी
एसपी सुमित कुमार ने बताया कि आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया। इसके लिए एफएसएल की टीम जांच करेगी। रिपोर्ट दर्ज की गई है।

panipat indusrty

उद्यमियों की मांग- मजबूत हो फायर ब्रिगेड
निर्यातक विभू पालीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री से बात करेंगे। शहर में अंतरराष्ट्रीय स्तर की दमकल व्यवस्था होनी चाहिए। हरियाणा चैंबर ऑफ कॉमर्स की टीम चेयरमैन विनोद खंडेलवाल के साथ उद्यमी सुरेश गर्ग के पास पहुंची। जिसमें मनीष अग्रवाल, विभू पालीवाल एक्सपोर्ट एसोसिएशन के प्रधान ललित गोयल शामिल थे। चैंबर के पूर्व चेयरमैन प्रीतम सचदेवा, पुरुषोत्तम शर्मा और धनराज बंसल ने भी मौका मुआयना कर फायर सिस्टम मजबूत करने पर जोर दिया। निर्यातक रमेश वर्मा ने बताया कि सुरेश गर्ग हरिद्वार गए थे। उन्होंने फोन पर आग लगने की सूचना दी। वे मौके पर पहुंचे। दमकल विभाग की टीम में ट्रेंड कर्मी नहीं थे। पानीपत के उद्योगों में पोलिएस्टर का काम होता है। सेक्टर 20-25 में अंतरराष्ट्रीय स्टैंडर्ड का फायर सिस्टम होना चाहिए। उद्यमियों ने दमकल विभाग पर लापरवाही के आरोप लगाए हैं। कहा जा रहा है कि दमकल के कर्मचारी नशे में थे। एक कर्मचारी गाड़ी को बीचोंबीच खड़ी करके चला गया। उद्यमी अशोक गर्ग, हैंडलूम एक्सपोर्ट मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन के प्रधान रमेश वर्मा  ने कहा कि यदि शुरुआत में ही रिफाइनरी से फोम टेंडर आ जाते तो काफी बचाव हो जाता।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.