पानीपत, जेएनएन। जिस पिता के साये में वह खुद को महफूज समझती, वही हैवान बन गया। पांच महीने से यौन शोषण कर रहा था। मां को बताया, लेकिन उसने अनसुना कर दिया। पिता की दरिंदगी बढऩे लगी तो छोटी बहन की चिंता हुई। कहीं उसके साथ भी ऐसा न हो? सहेली को बताया। पड़ोस की महिला का सहारा मिला तो 13 वर्षीय किशोरी अन्याय के खिलाफ उठ खड़ी हुई। आखिर रविवार सुबह पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर पिता को गिरफ्तार कर लिया गया। किशोरी दहशत में है। उसकी काउंसिलिंग कराई जा रही है। मेडिकल भी अभी नहीं हुआ है। 

चाइल्ड राइट प्रोडेक्शन फोरम की सदस्य सुधा झा ने बताया कि संस्था से जुड़े एक व्यक्ति के मकान में छपरा (बिहार) जिले के एक गांव का व्यक्ति बेटे, तीन बेटियों व पत्नी के साथ किराये पर रहता है। उसने चाय की दुकान कर रखी है। वह छठी कक्षा में पढऩे वाली 13 वर्षीय बेटी का यौन शोषण कर रहा था। बच्ची ने मां व चाचा को बताया तो दोनों ने उसे डांट दिया।

मां मायके गई तो हरकतें बढ़ गई
एक महीने पहले किशोरी के नाना का देहांत हो गया था। छोटी बेटी को लेकर मां मायके चली गई। उसके जाते ही पिता की हरकतें बढ़ गईं। किशोरी को स्कूल में सहेली को बताया तो उसने हौसला बढ़ाया कि पिता को जेल भिजवा दे, नहीं तो छोटी बहन की भी जिंदगी खराब कर देगा। किशोरी गत बृहस्पतिवार को रोते हुए स्कूल जा रही थी। पड़ोस की महिला ने पूछा तो उसने बताया कि पिता उसके साथ गलत काम करता है। महिला ने मकान मालिक को सारी बात बताई तो शिकायत टीम तक पहुंची। 

पिता के निकलते ही गुपचुप घर पहुंची टीम
रविवार सुबह बाल कल्याण समिति के सदस्य डॉ. मुकेश आर्य, सुधा झा और पुलिस मौके पर पहुंची। आरोपित पिता बरसत रोड पर अपनी चाय की दुकान पर गया। तभी टीम ने किशोरी से पूछताछ की और उसके बताने पर थाना शहर पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर लिया है। 

पीडि़त किशोरी सहमी हुई है। उसका मेडिकल नहीं हुआ है। मजिस्ट्रेट के सामने बयान करा पीडि़ता को शेल्टर होम में भेज दिया है। यहां उसकी काउंसिलिंग कराई जाएगी। सुधा झा के बयान पर आरोपित पिता के खिलाफ 10 पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। 
जितेंद्र कुमार, प्रभारी, थाना शहर, पानीपत।

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप